Home धार्मिक प्रारंभ हुआ भगवान श्रीकृष्ण का प्रिय मास मार्गशीर्ष…

प्रारंभ हुआ भगवान श्रीकृष्ण का प्रिय मास मार्गशीर्ष…

आज से इस वर्ष 2020 के अंग्रेजी ​कैलेंडर के अंतिम माह दिसंबर का प्रारंभ हो गया है, वहीं हिन्दू कैलेंडर के नए मास मार्गशीर्ष का भी प्रारंभ आज से हुआ है। यह एक संयोग ही है।मार्गशीर्ष मास की पूर्णिमा मृगशिरा नक्षत्र से युक्त होती है, इसलिए इस मास का नाम मार्गशीर्ष पड़ा है। भगवान श्रीकृष्ण को मार्गशीर्ष मास अत्यंत प्रिय है। आज 01 दिसंबर दिन मंगलवार है। हिन्दी पंचांग के अनुसार, मार्गशीर्ष मास के कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा तिथि है। इस माह में एकादशी, प्रदोष व्रत, ​मासिक शिवरात्रि, सोमवती अमावस्या, क्रिसमस, विवाह पंचमी, गीता जयंती, मासिक गणेश चतुर्थी, अमावस्या, पूर्णिमा जैसे व्रत एवं त्योहार आने वाले हैं। आइए जानते हैं कि इस माह के ये प्रमुख व्रत एवं त्योहार किस तारीख और दिन को आने वाले हैं, ताकि आप उसके अनुसार अपनी तैयारियां कर लें।

दिसंबर 2020 के व्रत एवं त्योहार

03 दिसंबर, दिन: गुरुवार: संकष्टी चतुर्थी

07 दिसंबर, दिन: सोमवार: काल भैरव जयंती

10 दिसंबर, दिन: गुरुवार: उत्पन्ना एकादशी

12 दिसंबर, दिन: शनिवार: शनि प्रदोष व्रत, कृष्ण पक्ष

13 दिसंबर, दिन: रविवार: मासिक शिवरात्रि

14 दिसंबर, दिन: सोमवार: सोमवती अमावस्या, साल 2020 का अंतिम सूर्य ग्रहण

15 दिसंबर, दिन: मंगलवार: धनु संक्रांति

18 दिसंबर, दिन: शुक्रवार: विनायक चतुर्थी

19 दिसंबर, दिन: शनिवार: विवाह पंचमी

25 दिसंबर, दिन: शुक्रवार: मोक्षदा एकादशी, गीता जयंती, क्रिसमस

27 दिसंबर, दिन: रविवार: प्रदोष व्रत, शुक्ल पक्ष

29 दिसंबर, दिन: मंगलवार: दत्तात्रेय जयंती

30 दिसंबर, दिन: बुधवार: मार्गशीर्ष पूर्णिमा

काल भैरव जयंती 2020: इस वर्ष काल भैरव जयंती 07 दिसंबर दिन सोमवार को है। इनकी पूजा करने से मानसिक और शारीरिक समस्याओं का निराकरण होता है।

उत्पन्ना एकादशी 2020: इस वर्ष उत्पन्ना एकादशी 10 दिसंबर दिन गुरुवार को है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा होती है। इससे मोक्ष प्राप्त होता है।

शनि प्रदोष व्रत: दिसंबर में शनि प्रदोष व्रत 12 तारीख को है। इस दिन संतान प्राप्ति के लिए भगवान शिव की आराधना की जाती है।

सोमवती अमावस्या या मार्गशीर्ष अमावस्या: यह 14 दिसंबर को है। इस दिन स्नान, दान आदि का विशेष महत्व होता है। यह अगहन अमावस्या या पितृ अमावस्या भी कहलाता है। इस दिन पितरों का स्मरण करते हैं।

धनु संक्रांति 2020: धनु संक्रांति 15 दिसंबर से 14 जनवरी 2021 तक रहेगी। सूर्य देव 15 दिसंबर धनु राशि में प्रवेश करेंगे, इसलिए यह धनु संक्रांति कहलाती है।

मोक्षदा एकादशी 2020: मोक्षदा एकादशी 25 दिसंबर को है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा करने से व्यक्ति मोह माया के बंधन से मुक्त हो जाता है। आज के दिन गीता जयंती भी होती है क्योंकि इस दिन ही भगवान श्रीकृष्ण ने गीता का उपदेश दिया था।

क्रिसमस 2020: इस साल क्रिसमर शुक्रवार 25 दिसंबर को है। यह ईसाई धर्म का प्रमुख त्योहार है। ईसा मसीह के जन्म के अवसर पर लोग एक दूसरे को केक खिलाते हैं और उपहार देते हैं।

मार्गशीर्ष पूर्णिमा 2020: इस साल मार्गशीर्ष पूर्णिमा 30 दिसंबर को है। इस दिन स्नान, तप और दान का ​विशेष महत्व होता है।