Diabetes से ज्‍यादा खतरनाक होता है 'प्रीडायबिटीज', महिलाओं और पुरुषों के शरीर पर दिखने लगते हैं ऐसे लक्षण

Diabetes से ज्‍यादा खतरनाक होता है 'प्रीडायबिटीज', महिलाओं और पुरुषों के शरीर पर दिखने लगते हैं ऐसे लक्षण

नई दिल्ली। प्री-डायबिटीज़ का मतलब है, वो स्थिति जिसमें आपको डायबिटीज़ नहीं है, लेकिन आप इस बीमारी की दहलीज़ पर खड़े हैं। खानपान, व्यायाम और लाइफस्टाइल में ज़रा सी भी कोताही आपको ज़िंदगी भर के लिए डायबिटीज़ दे सकती है। प्री-डायबिटीज़ को डायबिटीज़ से पहले की स्टेज माना जाता है। इसका मतलब है, कि शरीर आपको सिग्नल देने लगता है कि सेहत को अब नहीं संभाला तो टाइप-2 डायबिटीज़ ज़्यादा दूर नहीं है। इसके बारे में ज़्यादातर लोग अनजान रहते हैं, जो एक चिंता का विषय है।

ज़्यादा ख़तरनाक होती है प्री-डायबिटीज़

ये डायबिटीज़ से ज़्यादा ख़तरनाक मानी जाती है क्योंकि इसमें किडनी, ह्रदय, मसल्स को अधिक नुकसान पहुंचता है। हैरान करने वाली बात यह है कि आंकड़े बताते हैं कि हर साल 10% लोग डायबिटिज़ के मरीज़ बन जाते हैं। यह स्थिति बेहद ख़तरनाक है। अगर समय रहते इस पर काबू नहीं पाया गया, तो एक समय ऐसा भी आएगा जब डायबिटिज़ से पीड़ित लोगों की आबादी आम लोगों से ज़्यादा हो जाएगी।

प्री-डायबिटीज़ के लक्षण

डायबिटीज़ एक ऐसी बीमारी है जिसका कोई इलाज नहीं है, लेकिन इसे दवाओं और लाइफस्टाइल में बदलाव की मदद से कंट्रोल में रखा जा सकता है। आपके प्री-डायबिटीक होने का जोखिम तब रहता है, जब आपको निम्न दिक्कतें शुरू हो जाती हैं:

- ज़्यादा प्यास लगना। पर्याप्त पानी पीने पर भी प्यास महसूस होना।

- बार- बार पेशाब आना।

- बिना काम किए ही बहुत थक जाना।

- हाई ब्लड प्रेशर की समस्या शुरू होना।

- अचानक से वज़न बढ़ने लगना। खासतौर पर पेट के आस-पास फैट्स ज़्यादा दिखने लगते हैं। महिलाओं के कमर का साइज़ 35 इंच और पुरुषों का 40 इंच से ज़्यादा होना ख़तरनाक हो सकता है।

- भूख का बढ़ जाना भी प्री-डायबिटीक होने का संकेत हो सकता है।

- महिलाओं में पीसीओडी की वजह से पीरियड्स इररेग्युलर हो जाते हैं, जो प्री-डायबिटीज़ होने का लक्षण भी हो सकता है।

- अगर आपकी आंखें अचानक कमज़ोर हो जाती है, तो यह भी प्री-डायबिटीज़ का संकेत हो सकता है।

- ज़्यादा कोलेस्ट्रॉल दिल की सेहत को तो नुकसान पहुंचाता ही है, बल्कि ये प्री-डायबिटीज़ का भी एक कारण हो सकता है।

अगर आपको इनमें से कोई लक्षण दिखाई देते हैं, तो अपना ब्लड टेस्ट ज़रूर कराएं। ब्लड शुगर लेवल ज़्यादा दिखता है, तो फौरन डॉक्टर से सलाह लें।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

Share this story