Home उत्तर प्रदेश यूपी सरकार में दो बार मंत्री बने लक्ष्मण सिंह का आज सुबह...

यूपी सरकार में दो बार मंत्री बने लक्ष्मण सिंह का आज सुबह निधन हो गया

राजसत्ता पोस्ट

चौ चरण सिंह वादी,वरिष्ठ अधिवक्ता ,जनता पार्टी सरकार में दो बार मंत्री बने लक्ष्मण सिंह का आज प्रातः निधन हो गया…

मुज़फ्फरनगर

रालोद प्रदेश महासचिव सुधीर भारतीय ने प्रेस को जारी बयान में कहा कि बावली(बागपत)गांव के मूल निवासी लक्ष्मण सिंह बहुत लंबे समय से मुज़फ्फरनगर (जाट कॉलोनी) की राजवाहे वाली रोड पर अपने खुद के निवास में रहते थे।विधायक होते हुए मीसा के तहत उनकी आपातकाल में पहली गिरफ्तारी हुई थी !1977 में बनी जनता पार्टी सरकार में रामनरेश यादव के मंत्रिमंडल में स्वतंत्र प्रभार मंत्री के तौर पर कार्य किया!
रालोद राष्ट्रीय अध्यक्ष चौ अजित सिंह ने फोन कर परिजनों को सांत्वना देते हुए कहा कि लक्मन सिंह जी का जाना एक अध्याय का अंत है!
ईश्वर लक्ष्मण सिंह जी को अपने श्री चरणों मे स्थान दे, यह इस क्षेत्र से एक बड़ी शख्सियत का जाना है।
रालोद परिवार दिवगंत आत्मा की शांति हेतु प्रार्थना करता है।
[09/12, 6:59 pm] Sudhir भरतीय: लक्ष्मण सिंह चौधरी चरण सिंह की पार्टी लोकदल से 1974 में विधायक बने।1975 में 25 जून को इमरजेंसी लागू हो गई जिसके 1 हफ्ते बाद उन्हें अपने आवास से पुलिस द्वारा गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया जहां उन पर
आंतरिक सुरक्षा व्यवस्था अधिनियम (मीसा) लगी।वह लगभग 2 बरस (21 महीने) तक जेल में रहे।उस समय उनके साथ जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष लाला सत्यप्रकाश अग्रवाल (लाला सतबीर) व गयूर अली, ज्ञान कुमार एडवोकेट, सईद मुर्तजा, यशपाल भाजु(यज्ञमुनि), अधिवक्ता यशपाल सिंह, डॉक्टर हरवीर बालियान समेत सैकड़ों लोग जेल में रहे। कुछ लोगों पर मीसा लगी जिनमें लक्ष्मण सिंह, हरवीर बालियान अधिवक्ता यशपाल सिंह शामिल थे। 1977 में मोरारजी देसाई की सरकार आने के बाद मीसा कानून समाप्त किया गया बात की सरकारों ने मीसा के तहत जेल गए लोगों को पेंशन भी देना शुरू किया जो अभी भी दी जा रही है।