Home उत्तराखंड यादगार बनेगा कुंभ, पूरा मेला क्षेत्र नहाएगा रोशनी में…

यादगार बनेगा कुंभ, पूरा मेला क्षेत्र नहाएगा रोशनी में…

हरिद्वार। हरिद्वार कुंभ-2021 को भव्य, शानदार, यादगार और अनोखा बनाने के लिए कुंभ मेला अधिष्ठान कोरोना के साए तले बड़े पैमाने तैयारी कर रहा है। इसबार कुंभ का आयोजन ‘ग्रीन और क्लीन कुंभ’ की थीम पर इसे कराने की तैयारी कर रहा है। इसमें पूरा फोकस गंगा की शुद्धता और पर्यावरण की रक्षा पर रहने के साथ ही कोरोना संक्रमण से रोकथाम पर भी जोर रखा जाएगा। इसके तहत कुंभ के दौरान विद्युत ऊर्जा का कम से कम और सौर ऊर्जा का अधिकाधिक इस्तेमाल की भी योजना है।

कुंभ के इतिहास में पहली बार कुंभ मेला शुभांरभ समारोह का आयोजन होगा। शुभारंभ समारोह का आयोजन भी ग्रीन-कुंभ की थीम पर ही आधारित रहेगा और इस मौके पर बड़े पैमाने पर ‘ईको-फ्रेंडली’ आतिशबाजी और लेजर शो कराने की तैयारी है। कुंभ मेलाधिकारी दीपक रावत के मुताबकि इस दौरान पूरा हरकी पैड़ी क्षेत्र-मुख्य कुंभ नगर सोलर-पावर आधारित एलईडी लाइट्स से रोशन रहेंगे। यही नहीं कुंभ मेला स्थल और नहर पटरी मार्ग को खूबसूरत बनाने को सैकड़ों की तादाद में लगाए जाने वाले ‘हैरिटेज पोल’ भी सौर ऊर्जा आधारित होंगे।

बताया जा रहा है कि पूरे मेला क्षेत्र को ग्रीन क्षेत्र घोषित कर यहां अति-आवश्यक वाहनों को छोड़ सभी तक डीजल-पेट्रोल वाहनों पर रोक लगाने की योजना है। कोशिश है कि इस दौरान यहां केवल बैटरी और सौर ऊर्जा आधारित वाहनों को ही चलाए जाने की अनुमति रहे। इसके लिए सौर ऊर्जा से चार्ज होने वाले रिक्शा, टेपो और बस को बड़े पैमाने पर चलाने की योजना है।

वहीं, पूरे मेला क्षेत्र को भव्य रूप प्रदान करने के लिए शानदार तरीके से आकर्षक रंगों से सजाने की योजना है, इसमें भी सौर ऊर्जा का इस्तेमाल किया जाएगा। इससे दिन के समय अलग रंग में नजर आने वाला कुंभ मेला क्षेत्र शाम गहराते ही सौर ऊर्जा से संचालित होने वाली विविध रंगों की लेजर लाइट्स से दमकने लगेगा। इन लाइट्स की वजह से कुंभ मेला क्षेत्र की इमारतों का रंग अपने आप बदलने लगेगा।

खास बात यह कि इसमें अनावश्यक खर्च भी नहीं होगा, क्योंकि इसके लिए खर्च सीमा काफी कम करके योजना बनाई जा रही है। इसके साथ ही पिछले वर्षों में विभिन्न जगहों पर आयोजित कुंभ मेले के दौरान बिजली के इस्तेमाल पर बड़े पैमाने पर होने वाले खर्च में भारी-भरकम कमी की जाएगी। मेला अधिष्ठान इसे लेकर अपनी तैयारी लगभग पूरी कर चुका है, शासन स्तर से इसमें से कई को मंजूरी भी मिल चुकी है।

मेला क्षेत्र को सुंगधित बनाने की तैयारी

कुंभ मेला अधिष्ठान हरिद्वार कुंभ को अनोखा स्वरूप देने के लिए कई तरह की योजनाओं पर काम कर रहा है। इसके तहत पूरे कुंभ मेला क्षेत्र में चौबीस घंटे सुगंधित वातावरण बनाए रखने की भी खास तैयारी की गई है। पूरे क्षेत्र में अभियान चलाकर इस तरह के सुगंधित फूलों को लगाया जाएग, जो रात-दिन अपनी खुशबू बिखरते हैं।

कुंभ मेलाधिकारी दीपक रावत ने बताया कि कोरोना संक्रमण के बीच हरिद्वार कुंभ में गंगा की शुद्धता और पर्यावरण की रक्षा के लिए इसे ग्रीन और क्लीन की थीम पर आयोजित किए जाने की तैयारी है। कोशिश है कि कुंभ के दौरान बिजली पर होने वाले भारी-भरकम खर्च को कम किया जाए और सौर ऊर्जा का अधिकाधिक उपयोग किया जाए। इसके लिए संबंधित विभागों के साथ विचार-विमर्श कर ठोस योजना तैयार की गई है। शासन स्तर से अनुमति मिलते ही इस पर अमल शुरू कर दिया जाएगा।