हरिद्वार में हरकी पैड़ी में सूखी गंगा नदी की जानिए क्या है बड़ी वजह

खबरे सुने

गंगनहर को आगामी 20 दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। विजयदशमी की रात से बंद हुई गंगनहर अब दीपावली रात चार नवंबर को चालू की जाएगी। गंगनहर बंद होने से शनिवार को हरकी पैड़ी के घाट दोपहर तक जलविहीन रहे। स्नान के लायक जल न होने से श्रद्धालुओं को मायूस होकर लौटना पड़ा। हालांकि गंगासभा की नाराजगी के बाद शाम को यूपी सिंचाई विभाग ने थोड़ा बहुत पानी छोड़ा, लेकिन यह डुबकी लगाने लायक नहीं था।

उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग की ओर से प्रतिवर्ष इन्हीं दिनों गंगनहर को साफ सफाई और मरम्मत के लिए बंद किया जाता है। शुक्रवार देर रात को भीमगोड़ा बैराज से गंगनहर में पानी बंद कर दिया गया था। जिसके बाद शनिवार को हरकी पैड़ी सहित सभी गंगा घाटों पर स्नान लायक पानी नहीं रहा। गंगनहर बंद होने के कारण हरकी पैड़ी पर श्रद्धालुओं को स्नान और कर्मकांड करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

डामकोठी से आगे ज्वालापुर तक गंगनहर पर बने अनेक घाट भी जलविहीन रहे। वहीं गंगा में पैसे सहित विभिन्न सामान ढूंढने के लिए देर रात से ही लोग जुट गए थे। उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग के एसडीओ शिव कुमार कौशिक का कहना है कि साफ सफाई और मरम्मत के लिए गंगनहर को 20 दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। गंगनहर की सफाई और तटबंधों की मरम्मत के लिए यह हर वर्ष काम किया जाता है। श्रद्धालुओं के लिए हरकी पैड़ी पर जल छोड़ा गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.