Home उत्तर प्रदेश जनपद में 2274 आंगनबाड़ी केंद्रों पर मनाया गया किशोरी दिवस

जनपद में 2274 आंगनबाड़ी केंद्रों पर मनाया गया किशोरी दिवस

मुजफ्फरनगर, 16 फरवरी 2021। जनपद में मंगलवार को 2274 आंगनबाड़ी केंद्रों पर किशोरी दिवस का आयोजन किया गया। किशारियों और बालिकाओं का वजन कराकर उन्हें आयरन की टेबलेट खिलाई गई और नियमित रूप से इसका सेवन करने की सलाह दी गई। किशोरी दिवस के अवसर पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, एएनएम, आशा द्वारा 10 से 19 वर्ष तक की स्कूल जाने वाली किशोरी और स्कूल न जाने वाली किशोरियों की लंबाई, वजन की जांच की गई। किशोरी-बालिकाओं को सलाह दी गयी कि वह नींबू पानी, आंवला या संतरे के साथ-साथ हरी साग सब्जियों पालक, बथुआ, सरसों के साथ-साथ गुड़ का सेवन करें। इसके साथ ही उन्हें सेनेटरी नेपकिन के बारे में जागरूक किया गया।
जिला कार्यक्रम अधिकारी वाणी वर्मा ने बताया किशोरी दिवस पर 10 से लेकर 19 वर्ष तक की किशोरियों को आंगनबाड़ी केंद्र पर बुलाकर उनको साफ-सफाई के बारे में भी जागरूक किया गया। उन्होंने बताया कि किशोरियों व बालिकाओं को आयरन की गोलियों का सेवन दूध व चाय के साथ नहीं करना चाहिए। इससे शरीर में आयरन का अवशोषण कम हो जाता है। इसके अलावा आयरन फोलिक एसिड की गोलियों का सेवन, विटामिन सी युक्त आहार जैसे नींबू, संतरा आदि के साथ किया जाना चाहिए। इससे आयरन का अवशोषण सुचारू रूप से हो सके। भोजन में पालक, मेथी, बथुआ, सरसों, गुड़ आदि की मात्रा को बढ़ाने की सलाह दी गयी, क्योंकि इनमें आयरन की मात्रा अधिक होती है। बताया गया कि अंकुरित दालों को हरी पत्तेदार सब्जियों के साथ पकाकर खाएं एवं अपने परिवार के छह माह से पांच वर्ष तक के बच्चों को आयरन सिरप सप्ताह में दो बार पिलाना भी जरूरी है। इसके साथ ही केंद्रों पर किशोरी एवं बालिकाओं को सेनेटरी नेपकिन के बारे में भी जागरूक किया गया। बताया गया कि कम से कम दिन में तीन बार सेनेटरी पैड या कपड़े के नेपकिन का उपयोग करें। कपड़े के नेपकिन को साबुन व पानी में धोएं और धूप में सुखाएं। कब्ज से बचने के लिए नियमित रूप से ज्यादा पानी पिएं और नियमित रूप से स्वास्थ्य वर्धक व पौष्टिक आहार का सेवन करें।