Home उत्तराखंड मुसीबत बन रहा घना कोहरा जानें- अगले दो दिन कैसा रहेगा मौसम

मुसीबत बन रहा घना कोहरा जानें- अगले दो दिन कैसा रहेगा मौसम

देहरादून। उत्तराखंड में अगले दो दिन मैदानी इलाकों में घना कोहरा और पहाड़ियों से चलने वाली सर्द हवाएं परेशानी बढ़ाएंगी। राज्य मौसम विभाग के मुताबिक अगले कुछ दिन मैदानों में कोहरा छाया रहेगा, जबकि पर्वतीय इलाकों में पाला ठंड में इजाफा कर सकता है। राज्य में तापमान घटने के भी आसार हैं। बता दें कि पिछले दिनों ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी होने से पूरा प्रदेश शीतलहर की चपेट में है। जगह-जगह अलाव जलाने के निर्देश दिए गए हैं।

प्रदेश में भले मौसम शुष्क बना रहा हो, लेकिन सर्द हवाओं ने काफी परेशान किया। पिछले दिनों चारधाम समेत ऊंचाई वाले इलाकों में हुई बर्फबारी से ठिठुरन और भी बढ़ गई है। हालांकि बीते दिन धूप खिलने से लोगों को काफी हद तक राहत मिली, लेकिन शाम होते ही फिर मौसम सर्द हो गया। दून घाटी समेत कई क्षेत्रों में सुबह से ही घना कोहरा छाया हुआ है। इससे वाहनों को आवाजाही में दिक्कतें हो रही हैं।

अलाव जलाने के दिए निर्देश 

बढ़ती ठंड को देखते हुए सभी जिलों के जिलाधिकारी भी सतर्क हो गए हैं। जगह-जगह अलाव जलाने के निर्देश दिए गए हैं।  रुद्रप्रयाग के डीएम मनुज गोयल ने उप जिलाधिकारियों सहित नगर पालिका और नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारियों को अलाव की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं, जिससे स्थानीय व्यापारियों के साथ ही राहगीरों को राहत मिल सके। जिलाधिकारी मनुज गोयल ने प्रतिदिन अलाव की फोटो और अलाव न जलाने का कारण भी कंट्रोल रूम में दर्ज करने के आदेश दिए हैं, ताकि कोई कोताही न हो।

चाय की चुस्कियां के साथ  रात्रि गश्त कर रहे पुलिसकर्मी

दो दिनों से पड़ रही कड़ाके की ठंड और शीतलहर को देखते हुए रात्रि गश्त करने वाले पुलिस कर्मियों के लिए गर्म चाय की सुविधा भी उपलब्ध कराई जा रही है। श्रीनगर कोतवाल मनोज रतूड़ी की पहल पर यह अभिनव प्रयोग शुरू किया गया है। अद्र्धरात्रि के बाद श्रीनगर शहर के विभिन्न क्षेत्रों में रात्रि गश्त कर रहे पुलिस कर्मियों को पुलिस का वाहन से गरमागरम चाय उपलब्ध कराई जाती है। कोतवाल मनोज रतूड़ी ने कहा कि उन्होंने शीत लहर के चलते पुलिस कर्मियों के स्वास्थ्य के प्रति यह पहल की है। इससे पुलिस कर्मियों में रात्रि गश्त के प्रति सजगता आएगी और रात्रि गश्त भी प्रभावी होगा। इस अभियान का जिम्मा कोतवाली में तैनात रहने वाले नाइट ऑफिसर पर रहता है।