मलिन बस्तियों की महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने की योगी जी द्वारा पहल।

खबरे सुने

नई दिल्ली, राज्य सरकार ने अब शहरी मलिन बस्तियों में रहने वाली महिलाओं के स्वास्थ्य पर ध्यान देने के साथ ही रोजगार के लिए आत्मनिर्भर बनाने की बनाई योजना । इसके लिए प्रदेश के 17 नगर निगमों की 251 मलिन बस्तियों में दिसंबर के पहले हफ्ते में उड़ान कार्यक्रम के द्वारा जागरूकता अभियान चलाया जाएगा।

अपर मुख्य सचिव नगर विकास डा. रजनीश दुबे ने इस संबंध में शासनादेश जारी कर दिया है।

शासनादेश में कहा गया है कि वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार प्रदेश की 22 करोड़ आबादी में 4.45 करोड़ जनसंख्या शहरी क्षेत्रों में निवास करती है। इनमें से 62.39 लाख आबादी मलिन बस्तियों में रहती है। नगरीय क्षेत्र के मलिन बस्तियों में रहने वाली महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त व स्वावलंबी बनाने और उनके परिवारों की सामाजिक व्यवसायिक जरूरतों पर व्यापक ध्यान केंद्रित करने के लिए अभिनव प्रयास करते हुए उन्हें स्वावलंबी बनाया जाने की जरूरत है।

नगर विकास विभाग प्रदेश के 17 नगर निगमों आगरा, अयोध्या, अलीगढ़, बरेली, फिरोजाबाद, गाजियाबाद, गोरखपुर, झांसी, कानपुर, लखनऊ, मथुरा-वृंदावन, मेरठ, मुरादाबाद, प्रयागराज, सहारनपुर, शाहजहांपुर व वाराणसी की 251 मलिन बस्ती की महिलाओं को समाज की मुख्य धारा से जोड़ने का काम किया जाएगा। इस अभियान के दौरान सफाई व स्वास्थ्य जागरूकता अभियान, प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, लाभार्थियों को बैंकिंक सहायता योजना के लिए कैंप लगाए जाएंगे।

इसके साथ ही उनके जीवर स्तर उन्नयन व आत्मनिर्भर के लिए मल्टीसेक्टोरल योजनाओं से लाभाविंत कराया जाएगा। दीनदयाल अंत्योदय योजना एवं राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत छोटी मलिन बस्तियों में 10 और बड़ी में 15 नए स्वयं सहायता समूहों का गठन कराया जाएगा। इसके लिए रिवाल्विंग फंड के रूप में प्रत्येक स्वयं सहायता समूहों को 10 हजार रुपये दिए जाएंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.