अधूरी कहानी
K

तुम्हारे दूर जाने से


ख़त्म मेरी कहानी है.


बची न कोई  उम्मीदे.


न मुझमे वो रवानी है.


जहाँ वाले ये कहते है


ये पागल है दिवानी है.


त्आल्लुक तोड़ देते तुम


मगर  दुनिया से न जाते


अकेली छोड़ देते तुम.


मगर दुनिया से न जाते


किये थे वादे जो मुझसे


नहीं वादे निभाते तुम.


ज़रा तो सोचते मुझको.


ज़रा अपनी निशानी को.


अधूरी छोडनी गर थी 


न लिखते इस कहानी को..


@मनीषा जोशी.....

Share this story