ए.के शर्मा को मंत्रिमंडल में शामिल करने से योगी सरकार की छवि होगी बेहतर:राक्रांसपा
K

लखनऊ: राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष गोपाल राय ने कहा है कि आगामी यूपी विधानसभा चुनाव में भाजपा की स्थिति  बेहतर हो सकती है यदि ए.के शर्मा को मंत्रिमंडल में अविलंब शामिल कर लिया जाता है अन्यथा भाजपा की ज्यादा सीटों पर नुकसान हो सकता है।इसमें कोई शक नहीं कि उत्तर प्रदेश की जनता मोदी जी के प्रति अथाह स्नेह और प्यार रखती है मगर कोरोना काल में प्रदेश में सरकारी स्तर पर जो लापरवाहियां देखी गयी हैं उससे जनता में उत्तर प्रदेश सरकार के प्रति घोर निराशा और गुस्सा भी है।पंचायत चुनाव में भाजपा के करारी हार से जनता के मनःस्थिति को आसानी से समझा जा सकता है। 

श्री राय ने कहा है कि ऐसे कठिन वक्त में भाजपा नेता और पूर्व वरिष्ठ आईएएस ए.के शर्मा की भूमिका वाकई बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है,वे सरकार के संकटमोचक की भूमिका में हो सकते हैं ताकि प्रदेश सरकार की छवि को बेहतर बनाया जा सके जिसे दुर्भाग्यवश उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी समझ ही नहीं पा रहे हैं।पूरे पूर्वांचल में ए.के शर्मा अपने कर्तव्यनिष्ठा और ईमानदार छवि के कारण बहुत थोड़े समय के अंदर ही एक बड़े नाम के रूप में उभरे हैं जनता उन्हें अपना रहनुमा के रूप में देखती है क्योंकि कोरोना काल में आम जनता के लिए उन्होंने बहुत कुछ किया है जो कि अपने आप में एक अनूठा मिसाल है। संकट के समय जनता की बीच पहुंचकर महामारी के मुश्किल समय में ए.के शर्मा मैदान में डटे रहें। मोदी जी के गुजरात मॉडल के सूत्रधार रहे ए.के शर्मा और आज के यूपी को उसी गुजरात मॉडल की जरूरत भी है।

श्री गोपाल राय ने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि 2017 में यूपी में मोदी जी और अमित शाह जी के अथक प्रयास से भाजपा की सरकार बना था,इन दोनों की विश्वसनीयता के कारण यूपी की जनता ने वोट के रूप में भाजपा को आशीर्वाद दिया था फिर भी यूपी की जनता को ए.के शर्मा के सेवाओं और अनुभवों से दूर रखने की साजिश क्यों की जा रही है? राजनीतिक खींचतान में प्रदेश का विकास प्रभावित होने का जोखिम क्यों लिया जा रहा है?यदि भाजपा जल्द ही इस पर कोई निर्णय नहीं लेती है तब आगामी चुनाव में भाजपा को नुकसान हो सकता है।

Share this story