शाइन सिटी स्कैम में करोड़ों के घोटाला करने वाले एक एक करके हवालात में।

खबरे सुने

यूपी पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने जहां दुबई में बैठे राशिद नसीम को भारत लाने के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखा है वहीं दूसरी तरफ वाराणसी पुलिस फर्जीवाड़े में शामिल अन्य आरोपियों की लगातार गिरफ्तारी कर रही है. साथ ही फरार चल रहे राशीद नसीम, आसिफ नसीम और जेल में बंद डायरेक्टर अमिताभ श्रीवास्तव के खिलाफ कैंट कोतवाली में गैंगस्टर एक्ट का मुकदमा दर्ज कर और संपत्ति चिन्हित की जा रही है.

करोड़ों की रकम हड़प कर दुबई में छिप कर बैठे राशिद नसीम और उसके भाई आसिफ नसीम के लोगों पर वाराणसी पुलिस ने तेजी से शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. मंगलवार को शाइन सिटी ग्रुप के डायरेक्टर अमिताभ श्रीवास्तव की पत्नी मीरा श्रीवास्तव को भी गिरफ्तार कर लिया गया. मीरा श्रीवास्तव को वाराणसी पुलिस ने झारखंड के धनबाद से गिरफ्तार किया है. मीरा श्रीवास्तव वाराणसी के एक नामी स्कूल में टीचर रहीं हैं लेकिन शाइन सिटी में हुए फर्जीवाड़े में कमाई गई रकम से पति अमिताभ श्रीवास्तव की खरीदी बेनामी संपत्ति की मालकिन भी हैं.
इससे पहले वाराणसी पुलिस ने जयपुर के गुमान हेरिटेज होटल से राजीव सिंह को गिरफ्तार किया था. राजीव सिंह लखनऊ में शाइन सिटी का मैनेजर रहा है. इसके अलावा कोलकाता से पुलिस ने आर्यन भार्गव को चलती ट्रेन से दबोचा है. अब तक वाराणसी पुलिस राशीद नसीम के 5 करीबियों को गिरफ्तार कर चुकी है.
वहीं वाराणसी के कैंट कोतवाली में फरार चल रहे राशिद और आसिफ नसीम के साथ वाराणसी जेल में बंद अमिताभ श्रीवास्तव के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. पुलिस ने शाइन सिटी के मालिकों की संपत्ति का चिन्हीकरण भी शुरू कर दिया है. बता दें कि लखनऊ से शाइन सिटी का फर्जीवाड़ा करने वाले राशिद नसीम को दुबई से भारत लाने की कवायद भी शुरू कर दी गई है. EOW ने राशिद नसीम के लिए रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर भारत लाने के लिए भारत सरकार को पत्र लिखा है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.