“यदि चुनाव आयोग के ख़िलाफ धरना देना पड़ा, तो हम वो भी करेंगे. अखिलेश यादव ।

खबरे सुने

लखनऊ: अखिलेश यादव का बड़ा आरोप चुनाव आयोग पर, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले जहाँ तमाम राजनीतिक पार्टियाँ एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाने में जुटी हुई हैं.वही समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने निर्वाचन आयोग (EC) के खिलाफ धरने पर बैठने की चेतावनी दे डाली है. सपा मुखिया ने मंगलवार को कहा कि मतदाता सूची का प्रकाशन हुआ है. उसमें 21 लाख 56 हज़ार 262 नए जोड़े गए नाम हैं और काटे गए नामों की संख्या 16 लाख 42 हज़ार 756 हैं.

अखिलेश ने कहा कि जो नाम काटे गए हैं और जोड़े गए हैं, उनकी सूची हर बार निर्वाचन आयोग जारी करता है. अखिलेश ने आरोप लगाते हुए कहा कि लेकिन इस बार निर्वाचन आयोग ना जाने किसके दबाव में इस लिस्ट का प्रकाशन नहीं कर रहा है. अखिलेश ने आगे कहा कि यदि चुनाव आयोग ने इस सूची को जारी नहीं किया, तो हम आयोग के ख़िलाफ भी धरने पर बैठेंगे. सपा प्रमुख अखिलेश ने आगे कहा कि हर चुनाव में जोड़े गए और काटे गए नाम की वोटर लिस्ट 2019 तक दी गई है, फिर इस बार क्यों नहीं दी जा रही है.

अखिलेश ने कहा कि सियासी दलों को यह फेहरिस्त क्यों नहीं दी जा रही है. क्या वजह है? उन्होंने कहा कि यदि चुनाव आयोग के ख़िलाफ धरना देना पड़ा, तो हम वो भी करेंगे. अखिलेश ने कहा कि निर्वाचन आयोग में दिल्ली में जितने अधिकारी गए हैं सब उत्तर प्रदेश से ही गए हैं. अब यूपी में ही चुनाव है. हम उम्मीद करते हैं कि निर्वाचन आयोग निष्पक्ष काम करेगा.

Leave A Reply

Your email address will not be published.