Home उत्तराखंड हरिद्वार-लक्सर डबल रेल लाइन का कार्य जनवरी तक होगा पूरा

हरिद्वार-लक्सर डबल रेल लाइन का कार्य जनवरी तक होगा पूरा

हरिद्वार। कुंभ मेले को देखते हुए रेल प्रशासन ने तैयारियां तेज कर दी हैं। रेलवे लाइन दोहरीकरण का काम 31 जनवरी तक पूरा हो जाएगा। इसके बाद डबल लाइन पर ट्रेन का संचालन शुरू हो जाएगा। 31 जनवरी तक कार्य हर हाल में पूरा करने का रेल अधिकारियों ने कुंभ मेला प्रशासन को आश्वासन दिया है। इसके अलावा नए प्लेटफार्म, वॉच टावर, फुटओवर ब्रिज का काम भी शुरू कर दिया गया है। रेलवे स्टेशनों के सौंदर्यीकरण के बाद मुख्य कार्य रेल लाइन दोहरीकरण का है।

बता दें कि, लक्सर तक दोहरीकरण का कार्य बीते वर्ष पूरा कर लिया गया था। इसके बाद अब लक्सर से हरिद्वार तक कार्य किया जा रहा है। दोहरीकरण के कार्य में सबसे ज्यादा परेशानी पुल, अंडरब्रिज आदि के निर्माण कार्य के चलते आ रही है। ज्वालापुर में गंगनहर पर बने लाल पुल के पास दूसरे रेलवे पुल का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। अब इसके बाद लाइन के ऊपर पुल बनाने का काम किया जाना है। इसकी भी तैयारी पूरी हो चुकी है। अब रेलवे ने कुंभ मेले को देखते हुए काम जनवरी तक पूरा करने का लक्ष्य रखा है।बता दें कि, रेलवे की ओर से कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए 24 घंटे काम किया जा रहा है। अलग-अलग शिफ्टों में कर्मचारी कार्य करने में लगे हुए हैं। हरिद्वार रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म 6, 7, 8, 9 के बाद अब नया प्लेटफार्म बनाने का काम भी शुरू कर दिया गया है। कुंभ के दौरान आने वाली श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए खंडहर हो चुके माल गोदाम को तोड़कर 10 नंबर मेला प्लेटफार्म का निर्माण किया जा रहा है। हरिद्वार रेलवे स्टेशन में कुंभ मेले की दृष्टि से वॉच टावर बनाए जा रहे हैं। परिसर में दोनों वॉच टावर का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है। इसके अलावा पुरुषार्थी मार्केट के पास रेलवे फाटक के ऊपर भी फुटओवर ब्रिज बनाने का काम शुरू कर दिया गया है।

ज्वालापुर रेलवे स्टेशन भी कुंभ से पहले बदली हुई तस्वीर में नजर आएगा। रेलवे अधिकारियों ने निरीक्षण के बाद कार्य को और तेज करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए हैं। स्टेशन पर प्लेटफार्म के अलावा नई बिल्डिंग, फुटओवर ब्रिज बनाने का काम लगभग अंतिम चरण में है। जनवरी तक रेलवे लाइन दोहरीकरण का काम पूरा होगा। बैठक के दौरान रेलवे अधिकारियों ने दोहरीकरण का काम हर हाल में जनवरी के अंतिम तक पूरा करने का आश्वासन दिया है। अन्य कार्य भी रेलवे जल्द पूरे करा रहा है।