Home उत्तर प्रदेश किसान के लिए कील और अंबानी-अड़ानी के लिए कालीन बिछा रही है...

किसान के लिए कील और अंबानी-अड़ानी के लिए कालीन बिछा रही है सरकार–जयंत चौधरी

राजसत्ता पोस्ट

किसान के लिए कील और अंबानी-अड़ानी के लिए कालीन बिछा रही है सरकार–जयंत चौधरी

रविवार 7 मार्च

जयंत चौधरी आज बागपत जनपद के ढिकौली गाँव में किसान पंचायत में किसानों के बीच पहुँचे। किसान पंचायत को संबोधित करते हुए जयंत चौधरी ने कहा की यह निष्ठुर सरकार 250 किसानों की शहादत का भी मजाक उड़ाती है। केवल मंत्री ही नहीं बल्कि प्रधानमंत्री ने भी संसद में किसानों का मजाक उड़ाया है। किसान जिन्होंने देश को अपनी खून-पसीने से सींचा है, उनको मोदी जी परजीवी कहते हैं।


काले कृषि कानूनों के बारे में जयंत चौधरी ने कहा कि इन कानूनों से केवल बड़े उद्योगपतियों और कॉर्पोरेट घरानों को फायदा मिलेगा न कि किसानों को। दूसरी बात जयंत चौधरी ने उठाई की किसान और कंपनी में करार होने के बाद कंपनी अपनी मनमानी करेगी और इस मनमानी का आभास इसी बात से लग जाता है कि इन कानूनों में किसान को अदालत के पास जाने का भी अधिकार नहीं है।

जयंत चौधरी ने बताया कि पिछले साल बैंकों के कर्ज और बिजली के बिल के कारण ढिकौली के किसान अनिल पुत्र राम सिंह ने आत्महत्या की थी।
बागपत जनपद के किसानों की समस्याओं पर बोलते हुए जयंत चौधरी ने कहा कि बागपत के किसान बैंकों के 1342 करोड़ के कर्जदार है।
जबकि पिछले साल का 173 करोड़ मिलाकर 900 करोड़ से ज्यादा का गन्ना भुगतान किसानों का बकाया है।
ढिकौली गाँव के युवाओं की तारीफ करते हुए जयंत चौधरी ने कहा कि ढिकौली गाँव के युवाओं ने बिना किसी मदद के अपनी जेब खर्च से तीन लाख रुपये इकट्ठा कर गांव में खेल का मैदान तैयार किया है। अब गाँव के नौजवान इस ग्राउंड पर सेना व पुलिस आदि की भर्ती की तैयारी कर रहे है।

चौधरी चरण सिंह जी को याद करते हुए जयंत चौधरी ने कहा कि इस क्षेत्र के किसानों ने हमेशा चौधरी साहब को ताकत दी उनका हौसला बढ़ाया और उन्होंने किसानों-कामगारों की बात हर स्तर पर मजबूती से उठाई।
केंद्र सरकार की किसान विरोधी नीतियों पर हमला करते हुए जयंत चौधरी ने कहा कि जो कृषि व्यवस्था मोदी जी बनाना चाहते हैं उससे किसान बर्बाद हो जाएगा और ये तीनों कानून किसान के ताबूत में क़ील का काम करेंगे। मोदी सरकार द्वारा किसानों पर किए गए अत्याचारों को याद दिलाते हुए जयंत चौधरी ने कहा कि किसानों पर लाठीचार्ज किया गया, उनके रास्ते में कील बिछाई गई और वही अंबानी-अडानी के लिए क़ालीन बिछाई जाती है।
आज की किसान पंचायत में विशाल संख्या में युवा भी शामिल हुए ,नौजवानों की बात करते हुए जयंत चौधरी ने कहा कि आज देश का युवा नौकरी की तलाश में हैं। मोदी जी और योगी जी युवाओं को रोजगार देने में विफल साबित हुए है। भर्तियों के विज्ञापन निकलते है लेकिन कोई भी भर्ती प्री से आगे नहीं बढ़ पाती।

जैसा कि हर पंचायत में होता है इस पंचायत में भी कुछ फैसले लिए गए
सरकार को चेताते हुए कहा गया कि कि आंदोलनरत किसानों को दबाने का काम सरकार न करें कोई भी अनैतिक कृत्य बर्दाश्त नहीं किया जाएगा
पंचायत ने कहा कि हिन्दू मुस्लिम का भाईचारा कायम किया जाएगा
किसानों की सभी फसलों को एमएसपी पर खरीद की गारंटी सुनिश्चित की जाए।

जय जवान-जय किसान।
चौधरी चरण सिंह अमर रहे।।
किसान एकता जिंदाबाद के नारों के साथ जयंत चौधरी ने अपना संबोधन समाप्त किया।