अजीब : डेढ़ माह पहले हुआ लड़की का अंतिम संस्कार, गुरुग्राम में जिंदा मिली युवती, पुलिस भी हैरान

खबरे सुने

उत्तर प्रदेश के औरैया से एक बेहद अजीबोगरीब मामला सामने आया है। डेढ़ माह पहले गायब हुई जिस युवती की शिनाख्त कर उसके परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार कर दिया था, पुलिस ने अब उस युवती को गुरुग्राम से खोज निकाला है। हालांकि, पुलिस के सामने अब यह सवाल खड़ा हो गया है कि जिस युवती का अंतिम संस्कार किया गया था आखिर वह कौन थी? गलत शिनाख्त पर युवती के परिजनों पर भी कार्रवाई हो सकती है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, उत्तर प्रदेश की औरैया कोतवाली के एक गांव से करीब डेढ़ माह पहले एक युवती लापता हो गई थी। पीड़ित परिजनों ने गांव भदौरा निवासी अजय के खिलाफ युवती को बहला-फुसला कर भगा ले जाने का मामला औरैया कोतवाली में दर्ज कराया था। उसके बाद से ही पुलिस युवती की तलाश कर रही थी, इसी बीच गांव के बाहर यमुना नदी किनारे एक लड़की का शव पुलिस को मिला था।

युवती के परिजनों ने बेटी का शव का बताकर किया था अंतिम संस्कार : पुलिस ने जब लापता युवती के परिजनों को बुलाकर उसकी शिनाख्त कराई तो युवती के पिता ने उस शव की शिनाख्त अपनी बेटी के रूप में की थी। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पता चला जिसका अंतिम संस्कार किया गया उसकी उम्र 10 से 12 साल के बीच थी, जबकि जो युवती गायब हुई थी उसकी उम्र परिजनों ने 22 साल बताई गई थी। यह बात पता चलने पर पुलिस सक्रिय हो गई और मामले की गहनता के साथ छानबीन करने लगी। सर्विलॉन्स से पता चला कि युवती के मोबाइल की लोकेशन गुरुग्राम हैं, जिसके बाद पुलिस ने उसे गुरुग्राम से बरामद कर लिया।

मोबाइल नंबर के जरिए ढूंढ निकाला

एसपी अभिषेक वर्मा के आदेश पर सर्विलॉन्स टीम ने युवती का मोबाइल नंबर सर्विलॉन्स पर लगाया। मोबाइल की लोकेशन पता चलते ही पुलिस ने लापता युवती का सुराग लगाकर उसे गुरुग्राम से बरामद कर लिया। युवती की बरामदगी के साथ ही पुलिस के लिए नदी किनारे मिला शव सिरदर्द बन गया है। अब पुलिस उस शव की शिनाख्त कैसे करेगी? सीओ सिटी सुरेन्द्र ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.