हैदराबाद के सिकंदराबाद क्लब में लगी आग, पुस्तकालय और कोलोनेड बार जलकर राख

हैदराबाद। तेलंगाना के सिकंदराबाद क्लब में रविवार को भीषण आग लगने से एक बड़ा हादसा हो गया है। शुरुआती अनुमानों के अनुसार, हादसे में लगभग 20 करोड़ रुपये की संपत्ति का नुकसान हुआ है। घंटों की मशक्कत के बाद दमकलकर्मियों ने आग पर काबू पा लिया। अभी तक यह नहीं पता चल सका है कि आग कैसे लगी।

पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और घटना की जांच कर रही है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार, उन्हें लगभग 2.30 बजे घटना के बारे में सूचित किया था। गश्ती ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों ने भी आग की लपटों को देखा और वे भी घटनास्थल पर पहुंच गए थे। आठ दमकल की गाड़ियों को मौके पर भेजा गया और आग बुझाने के लिए घंटों मशक्कत की गई। यह संरचना 60,000 वर्ग फुट में फैली हुई है और तीन मंजिला इमारत है। शुरुआती खबरों के मुताबिक, सबसे पहले पहली मंजिल पर आग लगी और तेजी से बाकी मंजिलों में भी फैल गई। क्लब के प्रशासनिक वर्ग पहली मंजिल पर स्थित हैं। मुख्य भवन में रिसेप्शन, डाइनिंग, बॉल रूम और किचन एरिया भी है। आग के तेजी से फैलने का कारण हेरिटेज बिल्डिंग में लकड़ी के व्यापक उपयोग को माना जा रहा है।

1878 में अंग्रेजों द्वारा स्थापित, सिकंदराबाद क्लब भारत के सबसे पुराने क्लबों में से एक है। यह सिकंदराबाद के केंद्र में 22 एकड़ भूमि में फैला हुआ है और इसे हैदराबाद शहरी विकास प्राधिकरण द्वारा ‘विरासत’ का दर्जा दिया गया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.