Home उत्तर प्रदेश प्रयागराज के नैनी सेंट्रल जेल से फतेहगढ़ सेंट्रल जेल ट्रांसफर, पूर्व MP...

प्रयागराज के नैनी सेंट्रल जेल से फतेहगढ़ सेंट्रल जेल ट्रांसफर, पूर्व MP बाहुबली धनंजय सिंह ने जताया खतरा

प्रयागराज। लखनऊ में मऊ के पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह तथा उसके साथी की हत्या में साजिशकर्ता पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह को प्रयागराज की नैनी सेंट्रल जेल में जान का खतरा लगने लगा। धनंजय सिंह की अर्जी पर गुरुवार को उसको फर्रूखाबाद के फतेहगढ़ सेंट्रल जेल ट्रांसफर किया गया है।

जौनपुर से बहुजन समाज पार्टी के सांसद रहे बाहुबली को अब फतेहगढ़ जेल में माफिया वाराणसी के सुभाष ठाकुर और मुन्ना बजरंगी की बागपत जिला जेल में हत्या के आरोपित सुनील राठी के साथ रखा जाएगा। आज ही पूर्व सांसद धनंजय सिंह का जेलस्थल बदला गया है। धनंजय सिंह ने प्रयागराज की नैनी सेंट्रल जेल में अपनी जान का खतरा बताया था। बागपत की जिला जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या के साजिशकर्ता माने जा रहे रहे धनंजय सिंह को गुरुवार को उसी फतेहगढ़ सेंट्रल जेल ट्रांसफर किया गया है, जहां पर मुन्ना बजरंगी की जेल में हत्या का मुख्य आरोपित सुनील राठी बंद है। सुनील राठी के साथ वहां पर वाराणसी निवासी माफिया सुभाष ठाकुर, प्रयागराज का माफिया पूर्व ब्‍लॉक प्रमुख दिलीप पहले से ही फतेहगढ़ जेल में बंद हैं।

प्रयागराज की नैनी सेंट्रल जेल में बंद पूर्व सांसद धनंजय सिंह को गुरुवार की सुबह कड़ी सुरक्षा में फर्रुखाबाद की सेंट्रल जेल फतेहगढ़ स्थानांतरित कर दिया गया। बुधवार देर रात उनके स्थानांतरण का आदेश जेल प्रशासन को मिला था। इसके बाद सुबह 10:05 बजे उन्हेंं जेल प्रशासन ने पुलिस के हवाले किया। नैनी सेंट्रल जेल के वरिष्ठ जेल अधीक्षक पी एन पाण्डेय का कहना है कि देर रात शासन से आदेश मिलने के बाद ही धनंजय सिंह को यहां से फतेहगढ़ जेल भेजने की तैयारी शुरू हो गई थी। पिछले सप्ताह  प्रयागराज के एमपी/एमएलए कोर्ट में सरेंडर के बाद धनंजय सिंह को नैनी जेल में निरुद्ध किया गया था।

बुधवार रात आया था शासन का फरमान : केंद्रीय कारागार नैनी के वरिष्ठ जेल अधीक्षक पी एन पांडे का कहना है कि देर रात शासन से आदेश मिलने के बाद ही धनंजय सिंह को यहां से फतेहगढ़ जेल भेजने की तैयारी शुरू हो गई थी। गुरुवार सुबह 10 बजकर 05 मिनट पर उन्हें जिला पुलिस के हवाले किया गया। पिछले सप्ताह उन्हें नैनी जेल से निरुद्ध किया गया था।

बाहुबली सांसद ने किया था प्रयागराज की कोर्ट में किया था सरेंडर: मऊ जिले के ब्लाक प्रमुख रहे अजीत सिंह की प्रदेश की राजधानी लखनऊ में छह जनवरी को हत्या हो गई थी। इस मामले की साजिश रचने वाले पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह लखनऊ की कोर्ट से गैरजमानती वारंट जारी हुआ था। इसके बाद लखनऊ पुलिस ने धनंजय सिंह पर 25 हजार का इनाम घोषित किया था। पूर्व सांसद की संपत्ति कुर्क करने की पुलिस तैयारी कर रही थी। इस बीच पांच मार्च शुक्रवार को धनंजय सिंह ने एमपीएमएलए कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। इसके बाद पूर्व सांसद को नैनी जेल भेज दिया गया था।