Home उत्तराखंड जयंत चैधरी पर हमले की किसानों ने कड़े शब्दों में की निंदा

जयंत चैधरी पर हमले की किसानों ने कड़े शब्दों में की निंदा

नारसन। नारसन-राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चैधरी व उनके समर्थकों पर हाथरस में हुई लाठीचार्ज पर समाज के लोगों ने उत्तर प्रदेश की सरकार के खिलाफ रोष प्रकट करते हुए कड़े शब्दों में निंदा की। इस दौरान बैठक में यूपी सरकार के खिलाफ अंादोलन की रणनीति पर चर्चा की गयी।

सोमवार को नारसन कस्बे में किसानों द्वारा एक बैठक का आयोजन किया गया। किसानों का कहना है कि उत्तर प्रदेश सरकार गरीबों की आवाज को दबा रही है और अपनी तानाशाही दिखा रही। लगातार गरीबों का शोषण किया जा रहा है और यूपी सरकार शोषण करने वाले लोगों का साथ दे रही है, इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। रविवार को जयंत चैधरी के साथ हुई घटना के विरोध में आंदोलन की तैयारी की जा रही है। सोशल मीडिया पर घटना की वीडियो वायरल होने से किसान में जबरदस्त आक्रोश फैला हुआ है। भारतीय किसान यूनियन टिकैत के मंडल महामंत्री अरविंद राठी का कहना है कि सरकार तानाशाही सरकार होती जा रही है यदि कोई गरीब व किसान नेताओं की बात करता है तो उसकी आवाज दबाने का प्रयास किया जाता है। जैसा कि हाथरस में में हुई घटना को लेकर जयंत चैधरी के साथ हुआ है, जिसे बिल्कुल भी  बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसी को ध्यान रखते हुए किसानों ने यह फैसला लिया है कि 8 अक्टूबर को उत्तराखंड के सभी किसान मुजफ्फरनगर में आंदोलन करेंगे। इस दौरान अरविंद, जशवीर, राजेंद्र सिंह, झगड़ू, सुरेन्द्र सिंह, देविंदर, नरेन्द्र, अनुज कुमार, अंकुर, राजसिंह राठी, ओमपाल सिंह, यशपाल, मदनपाल, विजयपाल आदि मौजूद रहे।