पश्चिम के दिग्गजों के समाजवादी पार्टी में आने से बढ़ी सरगर्मियां

खबरे सुने

लखनऊ / मुजफ्फरनगर

पश्चिमी उत्तरप्रदेश के कद्दावर नेता पूर्व सांसद हरेंद्र मलिक ने आज अपने पुत्र पूर्व विधायक व पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष कांग्रेस पकंज मलिक व अपने समर्थकों के साथ लखनऊ में समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की ।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा की हरेंद्र मलिक बड़े किसान नेता है , इनके आने से पार्टी को मजबूती मिलेगी।

अखिलेश यादव ने कहा कि आज किसान भाजपा का सफाया चाहता है। जनता इस बार उन्हें क्वारैंटाइन कर देगी। फसल को खरीदने का कोई इंतजाम किया। किसान अपनी मेहनत की फसल जलाने को मजबूर है। खाद के लिए किसान की जान चली जाए, उसे आत्महत्या करनी पड़े तो स्थिति क्या होगी, अंदाजा लगा लीजिए।

उन्होंने कहा कि देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे सपा ने बनाया है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर मंडियां बनानी चाहिए। सरकार बताए कि धान खरीदी के लिए कितने केंद्र बनाए हैं?

मुजफ्फरनगर के काजीखेड़ा के रहने वाले पूर्व राज्यसभा सदस्य हरेंद्र मलिक ने डीएवी कॉलेज से छात्र राजनीति शुरू की। इसके बाद 1978 में संजय गांधी और इंदिरा गांधी के साथ आंदोलन में शामिल होकर जेल गए। वह 1982 में बीडीसी बने और 1985 में खतौली विधानसभा सीट से चुनाव जीते।

तीन बार तक बघरा विधानसभा सीट से विधायक रहे। वह 1996 में विधानसभा और 2002 में समाजवादी पार्टी से लोकसभा का चुनाव हारे। 2002 में हरेंद्र मलिक इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) में शामिल होकर उसके कोटे से राज्यसभा पहुंच गए। 2004 में कांग्रेस से बेटे पंकज मलिक को बघरा से उपचुनाव लड़वाया। 2012 के विधानसभा चुनाव में पंकज मलिक शामली विधानसभा सीट से कांग्रेस से विधायक रहे हैं।

समाजवादी पार्टी के मुजफ्फरनगर जिलाध्यक्ष प्रमोद त्यागी ने भी एक बयान जारी कर समाजवादी पार्टी में उनका स्वागत किया, उन्होंने कहा की हरेंद्र मलिक मजबूत किसान नेता है , वो कई बार विधायक व सांसद रहे है, उनके बेटे पकंज मलिक दो बार विधायक रहे , वह कांग्रेस में उच्च पदो पर थे , हरेंद्र मलिक व उनके समर्थकों के समाजवादी पार्टी में आने निश्चित रूप से जनपद व प्रदेश स्तर पर समाजवादी पार्टी मजबूत होगी ।
हरेंद्र मलिक बड़े सँघर्षशील नेता रहे है , व उनका एक लंबा राजनीतिक अनुभव है , उनके व उनके समर्थकों के समाजवादी पार्टी में आने से 2022 के विधानसभा चुनावों में पार्टी को बहुत लाभ मिलेगा , समाजवादी दृष्टि से यह बहुत हित का कदम है , जो निर्णय उन्होंने लिया है हम उसका स्वागत करते है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.