Home धार्मिक हाथी सफलता और सौभाग्य का प्रतीक है, इन उपायों से ला सकते...

हाथी सफलता और सौभाग्य का प्रतीक है, इन उपायों से ला सकते हैं खुशहाली

भगवान श्री गणेश के प्रिय हाथी का स्मरण करने मात्र से उच्च पद, प्रतिष्ठा याद आती है। फेंग्शुई ने भी हाथी के महत्व को स्वीकारते हुए इसे एक बेहद प्रभावशाली चिन्ह के रूप में स्वीकार किया है। फेंग्शुई में हाथी को प्रतिष्ठा, सफलता और सौभाग्य का परिचायक माना जाता है। इतना ही नहीं, इसका संबंध इच्छाशक्ति, दीर्घायु, संतान प्राप्ति, बौद्धिक क्षमता और प्रतिष्ठा से भी है। गणपति के साथ लक्ष्मी जी को भी हाथी प्रिय है। अतः यदि लक्ष्मी और गणेश जी की कृपा चाहिए तो घर में हाथी कैसे रखें? आइये जानते है…

1. संतान सुख की प्राप्ति के लिए

हथिनी और उसके शिशु के स्टैच्यू को शयन कक्ष में रखना संतान सुख प्रदान करता है। संतान की ख्वाहिश रखने वाले नि:संतान दंपती को हाथी का स्टैच्यू अपने बेडरूम में रखना चाहिए। फेंग्शुई में सात नंबर को संतान से संबंधित माना गया है, इसलिए संतान के ख्वाहिशमंद दंपती सात हाथियों के स्टैच्यू को अपने शयनकक्ष में रखें, तो उन्हें संतान सुख की प्राप्ति हो सकती है।

2. शिक्षा के लिये

इस अद्भुत चिन्ह को बौद्धिक क्षमता विकसित करने में भी कारगर माना जाता है, इसलिए इसे बच्चों के बेड पर या उनके स्टडी टेबल पर रखना चाहिए।

3. करियर में स्थायित्व

हाथी के ऊपर मेंढक या बंदर के स्टैच्यू को रखना करियर में स्थायित्व प्रदान करता है। इसे आप अपने कार्य स्थल पर रख सकते हैं।

4. सुरक्षा के लिए

फेंग्शुई हाथी का सुरक्षा की दृष्टि से विशेष महत्व है। एक हाथी की मूर्ति को अथवा हाथियों के जोडे़ की मूर्ति को मुख्य द्वार पर रखना परिवार को सुरक्षा प्रदान करता है।

5. सौभाग्य के लिए

ऊपर की ओर सूंड किए हुए हाथियों को अगर मुख्य द्वार पर रखा जाता है, तो ये समृद्धि, सौभाग्य एवं सफलता को आमंत्रित करते हैं। वहीं नीचे की ओर सूंड किए हुए हाथियों को मुख्य द्वार पर रखना दीर्घायु का प्रतीक है।