Home उत्तराखंड कोरोना की नई गाइडलाइन जारी, बुकिंग कैंसिल की मसूरी आने वाले 40...

कोरोना की नई गाइडलाइन जारी, बुकिंग कैंसिल की मसूरी आने वाले 40 फीसदी पर्यटकों ने

मसूरी। उत्तराखंड में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है। वहीं, जिला प्रशासन ने भी नई गाइडलाइन का सख्ती से पालन करना शुरू कर दिया है। बाहरी राज्यों से आने वाले सभी पर्यटकों की बॉर्डर पर कोरोना जांच करायी जा रही है। पर्यटकों और यात्रियों की नेगेटिव रिपोर्ट आने पर ही प्रदेश में प्रवेश दिया जा रहा है। वहीं, कोरोना संक्रमित पाये जाने पर लोगों को वापस लौटाया जा रहा है।
कोरोना को लेकर जारी नई गाइडलाइन की वजह से प्रदेश में पर्यटकों की आमद में गिरावट देखी जा रही है। पहाड़ों की रानी मसूरी में भी इन दिनों पर्यटकों की संख्या में कमी आई है। मसूरी के होटलों में हुई एडवांस बुकिंग में से करीब 30 से 40 प्रतिशत पर्यटकों ने बुकिंग कैंसिल कर दी है। जिससे होटल संचालकों को आर्थिक रूप से नुकसान हो रहा है। वहीं, इसका सीधा असर मसूरी के अन्य व्यवसायों पर भी देखने को मिल रहा है।मसूरी होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष आरएन माथुर ने कहा कि कोरोना संक्रमण को लेकर जारी नई गाइडलाइन के बाद पर्यटन एक बार फिर से प्रभावित होने लगा है। मसूरी में बुकिंग कैंसिल हो रही है, जिससे होटल स्वामियों के साथ अन्य व्यवसाय को आर्थिक नुकसान हो रहा है। मसूरी होटल एसोसिएशन के सचिव संजय अग्रवाल ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सरकार को सख्त कदम उठाने ही होंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण एक बार फिर से तेजी से फैलने लगा है। ऐसे में सरकार को जान भी बचानी है और जहान भी। संजय अग्रवाल ने कहा कि अगर कोरोना संक्रमण प्रदेश में फैला तो उसका सीधा असर आमजन पर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा उठाये जा रहे सख्त कदमों से पर्यटन व्यवसाय प्रभावित होगा, लेकिन कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका गया तो लोगों की जान बचेगी। उन्होंने कहा कि मसूरी में दिल्ली और पंजाब से बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं, ऐसे में दोनों राज्यों में कोरोना एक बार फिर तेजी से फैल रहा है। मैं सरकार के बिना कोरोना टेस्ट के उत्तराखंड में बाहरी राज्यों के किसी भी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक लगाये जाने के फैसले का स्वागत करता हूं। सभी लोगों को सरकार का सहयोग करना चाहिए। सभी लोगों को मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चाहिए।