बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ भी हुए शाम‍िल, भाजपा चुनाव समिति को सौंपे 58 सीटों के दावेदारों के नाम

खबरे सुने

लखनऊ। विधानसभा चुनाव के लिए गठित राज्य चुनाव समिति के समक्ष सोमवार को पहले चरण की 58 सीटों के लिए दावेदारों के नाम रखे गए. इन पैनल में शामिल नामों पर मंगलवार को नई दिल्ली में राष्ट्रीय नेतृत्व से चर्चा करने के बाद उम्मीदवारों की पहली सूची 15-16 जनवरी तक जारी करने का निर्णय लिया गया है. इसके साथ ही चुनाव समिति ने इस बात पर जोर दिया कि कैसे कोरोना संक्रमण की रोकथाम के साथ-साथ अभियान को गति दी जाए.

विधानसभा चुनाव के पहले चरण की अधिसूचना 14 जनवरी को जारी की जाएगी. साथ ही उम्मीदवारों के नामांकन की प्रक्रिया शुरू होनी है. इसे देखते हुए बीजेपी ने उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया तेज कर दी है. इसी क्रम में पार्टी मुख्यालय में चुनाव समिति की बैठक हुई. चूंकि पहले चरण में पश्चिमी उत्तर प्रदेश की 58 सीटों पर मतदान होना है, इसलिए पहले इन सीटों के लिए कवायद शुरू कर दी गई है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह व प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह के समक्ष संबंधित क्षेत्र व जिलों की 58 विधानसभा सीटों के लिए दावेदारों की सूची संगठन के समक्ष रखी गयी. मंगलवार को मुख्यमंत्री, प्रदेश अध्यक्ष, प्रदेश प्रभारी व प्रदेश महासचिव संगठन सुनील बंसल इस सूची को लेकर दिल्ली पहुंच रहे हैं. वहां इन नामों पर राष्ट्रीय नेतृत्व के साथ चर्चा करने के लिए सूची संसदीय बोर्ड को भेजी जाएगी। बैठक में शामिल अधिकारियों का भी यही मत था कि चूंकि नामांकन 14 तारीख से शुरू होना है, इसलिए पहले चरण के उम्मीदवारों की सूची 15-16 जनवरी तक घोषित कर दी जानी चाहिए.

इसके अलावा इस बात पर भी चर्चा हुई कि कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए चुनाव प्रचार तेज किया जाए। डिजिटल प्लेटफॉर्म का उपयोग कर अधिक से अधिक मतदाताओं से संपर्क करना चाहिए। इसके लिए कमेटी के सदस्यों ने वाट्सएप ग्रुप बढ़ाने समेत कई सुझाव दिए। साथ ही मुख्यमंत्री का जोर इस बात पर था कि जनसंपर्क अभियान और डिजिटल माध्यमों से केंद्र और राज्य सरकारों की जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी लोगों तक पहुंचाई जाए.

Leave A Reply

Your email address will not be published.