चीन ने लॉन्‍च किया पहला महाविनाशक स्‍वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर, अमेरिका-भारत के लिए बढ़ा खतरा

बीजिंग। चीन (China) ने शुक्रवार को तीसरा एयरक्राफ्ट कैरियर फुजियान (Fujian) को लान्च किया है। आधिकारिक मीडिया रिपोर्ट में यह बात सामने आई। शंघाई में कोरोना संक्रमण की वजह से लगाए गए लाकडाउन के कारण इसकी लान्चिंग में देरी हुई। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी नेवी (PLAN) की 73वीं वर्षगांठ के करीब  23 अप्रैल को इसे लान्च किया जाना था।

2012 में पहला और 2019 में दूसरा एयरक्राफ्ट कैरियर हुआ था लान्च 

फुजियान के पूर्वी तटीय प्रांत से  चीन ने अपने तीसरे एयरक्राफ्ट कैरियर को आज लान्च किया। चीन का पहला एयरक्राफ्ट कैरियर लियोनिंग (Liaoning) था जिसे 2012 में विकसित किया गया था। इसके बाद दूसरा एयरक्राफ्ट कैरियर शेंडोंग (Shandong) था जिसे 2019 में विकसित किया गया था।

2030 तक चार एयरक्राफ्ट कैरियर बनाने का है मकसद 

बता दें कि चीन का लक्ष्य 2030 तक चार एयरक्राफ्ट कैरियर बनाकर अमेरिका के बाद दुनिया में दूसरी सबसे बड़ी आधुनिक नौसेना बनने का है। लिओनिंग और शेडोंग की तरह टाइप 003 एयरक्राफ्ट कैरियर भी एक पारंपरिक डीजल से चलने वाला प्लेटफार्म है वहीं चीन के चौथे एयरक्राफ्ट कैरियर के परमाणु रिएक्टरों से लैस होने की संभावना है।

साल 2018 में चीन ने की थी आधिकारिक पुष्टि 

साल 2018 में ही चीन ने इस बात की आधिकारिक पुष्टि कर दी थी कि यह तीसरा एयरक्राफ्ट कैरियर बनाने में जुट गया है। साथ ही यह भी बता दिया था कि घरेलू स्तर पर बनाए गए पहले एयरक्राफ्ट कैरियर की तुलना में बड़ा और शक्तिशाली होगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.