मुख्यमंत्री योगी जी ने त्योहारों के चलते 20 संदिग्ध शहरों मे कानून-व्यवस्था के जारी किये कड़े दिशा-निर्देश

खबरे सुने

उत्तर प्रदेश : त्योहारों और किसान संगठन द्वारा आयोजित आंदोलन और रैलियों के चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ द्वारा घोषित कार्यक्रमों एवं दुर्गा पूजा के दौरान कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए शासन ने कड़े दिशा-निर्देश जारी किए हैं। शासन ने पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती करते हुए अग्रिम आदेशों तक सेक्टर व्यवस्था लागू करने को कहा है।इसके साथ ही प्रदेश के 13 संवेदनशील जिलों में 20 वरिष्ठ पुलिस अफसरों की तैनाती की गई है। ये अफसर आवंटित जिलों में ही कैम्प करेंगे।
अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने रविवार को देर शाम सभी मंडलायुक्तों, चारों पुलिस कमिश्नरों, सभी आईजी-डीआईजी रेंज, जिलाधिकारियों तथा जिलों के पुलिस कप्तानों के लिए आदेश जारी किया। इसमें कहा गया है कि सभी लेखपाल, बीट कांस्टेबल, थानाध्यक्ष, एसडीएम, सीओ और जिले स्तर पर डीएम व एसपी किसानों से संवाद स्थापित करें। कहीं भी भीड़ इकट्ठा न हो और जहां भी संवेदनशील स्थान हैं, वहां पर्याप्त सुरक्षा बल बल लगाया जाए। साथ ही तत्काल प्रभाव से अग्रिम आदेशों तक सेक्टर व्यवस्था भी लागू की जाए।
आदेश में कहा गया है कि दुर्गा पूजा व नवरात्र के कार्यक्रमों को देखते हुए प्रदेश के सभी जिलों में पुलिस बल को मोबाइल करें। डीएम व एसपी तथा एसडीएम व सीओ एक साथ क्षेत्र भ्रमण करें। जिन जिलों से लगे अन्य प्रदेश के बार्डर हैं, वहां निकटवर्ती जिले के डीएम व एसपी से वार्ता कर कानून-व्यवस्था की स्थिति सुनिश्चित की जाए। जिन जिलों के माध्यम से लोगों का इकट्ठा होना संभावित है, वहां से संबंधित मार्गों पर सुरक्षा व्यवस्था एवं बैरियर स्थापित किए जाएं। अपर मुख्य सचिव गृह ने कहा है कि किसान संगठनों के प्रतिनिधियों से वार्ता कर कहीं भी ऐसा आयोजन न होने दिया जाए, जिससे कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब हो। जिन तत्वों द्वारा विरोध किया जा रहा है, उन्हें पहले से ही चिह्नित कर समुचित कार्रवाई की जाए। सोशल मीडिया पर भी नजर रखी जाए, जिससे किसी भी आपत्तिजनक पोस्ट से संवेदनशीलता न बढ़े। प्रत्येक महत्वपूर्ण घटना से संबंधित रिपोर्ट शासन के गृह विभाग के कंट्रोल रूम व डीजीपी मुख्यालय के कंट्रोल रूम को प्रतिदिन रात्रि 12 बजे तक उपलब्ध कराई जाए।
किसान आंदोलन को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अफसरों को जिले आवंटित किए गए हैं। डीजी/एडीजी जोन लखनऊ एसएन साबत व आईजी रेंज लखनऊ लक्ष्मी सिंह लखीमपुर खीरी, एडीजी जोन बरेली अविनाश चंद को बरेली, एडीजी जोन मेरठ राजीव सब्बरवाल को मेरठ, एडीजी जोन गोरखपुर अखिल कुमार, आईजी रेंज देवीपाटन डॉ. राकेश सिंह व आठवीं वाहिनी पीएसी बरेली के उप सेनानायक आशुतोष शुक्ला बहराइच, आईजी रेंज मेरठ प्रवीण कुमार गाजियाबाद, आईजी रेलवे लखनऊ सत्येन्द्र कुमार सिंह शामली, आईजी रेंज बरेली रमित शर्मा, एसपी यूपी 112 लखनऊ अजय पाल व एएसपी डीजीपी मुख्यालय अनिल कुमार झा पीलीभीत, आईजी ईओडब्ल्यू हीरालाल मुजफ्फरनगर, डीआईजी विजिलेंस लखनऊ एलआर कुमार अमरोहा, डीआईजी वूमेन पॉवर लाइन 1090 लखनऊ रवि शंकर छवि व 27वीं वाहिनी पीएसी सीतापुर राम सुरेश शाहजहांपुर, डीआईजी मुरादाबाद रेंज शलभ माथुर मुरादाबाद, डीआईजी पीएसी कानपुर रामलाल वर्मा व 38वीं वाहिनी पीएसी अलीगढ़ के उप सेनानायक हरेन्द्र कुमार बिजनौर तथा 20वीं वाहिनी पीएसी आजमगढ़ के उप सेनानायक अरुण कुमार दीक्षित को रामपुर में कैम्प करने का निर्देश दिया गया है। इसके अलावा लखीमपुर खीरी में डीआईजी उपेन्द्र अग्रवाल समेत 10 राजपत्रित पुलिस अधिकारी तीन अक्तूबर से ही तैनात हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.