Home उत्तर प्रदेश दारोगा की करीबी महिला की मौत का मामला : मृतका चार...

दारोगा की करीबी महिला की मौत का मामला : मृतका चार माह से गर्भवती थी, पुलिस ने दारोगा से पूछा…

लखनऊ। राजधानी में संदिग्ध हालात में गोली लगने से हुई दारोगा की करीबी महिला की मौत के मामले में पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है। पुलिस अभी यह स्पष्ट नहीं कर सकी है कि महिला ममता की मौत आत्महत्या है या फिर उसकी हत्या की गई थी। सोमवार को पुलिस ने दारोगा राहुल राठौर को थाने बुलाकर कई बिंदुओं पर पूछताछ की। पुलिस ने दारोगा से पूछा कि आखिर ममता के पास अवैध असलहा कहां से आया। पुलिस के इस सवाल पर दारोगा चुप्पी साधे रहे।

इंस्पेक्टर चिनहट धनंजय पांडे के मुताबिक , अभी तक इस मामले में ममता के घर वालों ने कोई तहरीर नहीं दी है। हालांकि, पुलिस फॉरेंसिक रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। अवैध असलहे के बारे में जानकारी की जा रही है। साक्ष्यों के आधार पर आगे की कार्यवाही की जाएगी। उधर, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला है कि ममता के सिर में दाएं तरफ से गोली लगी थी। डॉक्टर के पैनल ने पोस्टमार्टम के दौरान सिर में फंसी गोली बरामद कर ली है। रविवार को अटकले लगाई जा रही थी कि ममता दाएं हाथ से काम करती थी और उनके सिर में बाएं तरफ से गोली लगी है।

हालांकि, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद इन अटकलों पर विराम लग गया है। ममता चार माह के गर्भ से थी। सोमवार को पोस्टमार्टम हाउस के बाहर ममता के पति पवन सिंह मौजूद थे, जिन्होंने इस प्रकरण में कुछ भी बोलने से इन्‍कार कर दिया। पुलिस अब फॉरेंसिक रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। पुलिस ने सुसाइड नोट की पुष्टि करने के लिए हैंडराइटिंग विशेषज्ञ से सलाह मांगी है। प्रारंभिक छानबीन में पता चला है कि सुसाइड नोट की हैंडराइटिंग ममता की है। हालांकि, विशेषज्ञ की रिपोर्ट के बाद पुलिस किसी नतीजे पर पहुंचेगी। पूछताछ में दारोगा ने पुलिस को बताया है कि ममता से उसकी कुछ दिन से अनबन चल रही थी।  इस पूरे घटना को लेकर अभी भी कई सवालों के जवाब पुलिस तलाश रही है।

ये है पूरा मामला 

मामला चिनहट स्थित ओमेगा अपार्टमेंट का है। यहां की आठवीं मंजिल के रहने वाले दारोगा राहुल राठौर की करीबी महिला ममता की 6 नवंबर को संदिग्ध हालात में गोली लगने से मौत हो गई थी। दारोगा राहुल राठौर लखनऊ के साइबर सेल में तैनात थे। हाल में ही उनका स्थानांतरण ललितपुर जिले में हुआ था। राहुल करीब एक साल से अपनी परिचित महिला ममता के साथ रह रहे थे। राहुल और ममता लोगों से खुद को पति पत्नी बताते थे। हालांकि राहुल की पहले शादी हो चुकी थी और कुछ दिन पहले उनका पहली पत्नी से साइबर सेल के दफ्तर में विवाद भी हुआ था। राहुल कुछ दिन की छुट्टी लेकर आए थे और ममता के साथ ओमेगा अपार्टमेंट में रह रहे थे। रविवार को राहुल, ममता और उनका नौकर घर में मौजूद थे। राहुल के मुताबिक नौकरानी जब सुबह की चाय बनाकर उन्हें देने गई और दरवाजा खटखटाया तो वह भीतर से बंद था।

अवैध असलहा, सुसाइड नोट बरामद

पुलिस ने कमरे से अवैध असलहा और एक डायरी से सुसाइड नोट बरामद किया। जिसमें ममता ने खुद को अकेला महसूस करने की बात लिखी थी। ममता भी शादीशुदा थी और अपने बच्चों से अलग होकर राहुल के साथ रह रही थी। पिता को संबोधित नोट में ममता ने जिक्र किया है कि वह सबसे दूर हो गई है, उसका रिश्ता घरवालों से भी टूट गया है। अब कोई उसकी परवाह नहीं करता। मेरे रहने या न रहने से किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता। मैं जिंदगी से परेशान हो गई हूं। बहुत तकलीफ में हूं। मैं आत्महत्या कर रही हू?। मेरी मौत का जिम्मेदार कोई नहीं है।