Home उत्तर प्रदेश मनीष सिसोदिया जहां चाहें हम चर्चा के लिए तैयार: कैबिनेट मंत्री मदन...

मनीष सिसोदिया जहां चाहें हम चर्चा के लिए तैयार: कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक

देहरादून। आम आदमी पार्टी (आप) के नेता एवं दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की उस चुनौती को प्रदेश की भाजपा सरकार ने स्वीकार कर लिया है, जिसमें उनके द्वारा प्रदेश सरकार से अपनी पांच उपलब्धियां गिनाने को कहा गया था। सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने सोमवार को विधानसभा में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि सरकार की पांच नहीं दो सौ से ज्यादा उपलब्धियां हैं। सिसोदिया जहां चाहें, इन पर चर्चा के लिए हम तैयार हैं।

कैबिनेट मंत्री कौशिक ने कहा कि राज्य सरकार के पास उपलब्धियों की फेहरिस्त है। आम जनता के लिए दो सौ से ज्यादा योजनाएं लागू की गई हैं। इस संबंध में वह डाक से भी ब्योरा सिसोदिया को भेजेंगे। उन्होंने कहा कि सिसोदिया चाहें तो उत्तराखंड या दिल्ली कहीं भी, इन पर चर्चा करा लें। हम तैयार हैं।

संसदीय परंपराओं का किया है पालन

विपक्ष की ओर से सत्र के दौरान संसदीय परंपराओं की अनदेखी के आरोप के बारे में पूछे जाने पर कौशिक ने कहा कि हर सदन की अपनी परंपराएं होती हैं। हमारे यहां भी सारी व्यवस्थाएं हैं और परंपराओं का पालन करते हुए ही आज सदन में दिवंगत विधायक व चार पूर्व विधायकों को श्रद्धांजलि देने के बाद अनुपूरक बजट केवल पटल पर रखा गया। इस पर चर्चा नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को ऐसी राजनीति कतई शोभा नहीं देती।

कांग्रेस को नहीं कहने का अधिकार 

पूछे जाने पर कौशिक ने कहा कि बेरोजगारी के मसले पर कांग्रेस को कुछ भी कहने का अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि बेरोजगारी दूर करने के लिए सरकार ने बड़े पैमाने पर प्रयास किए हैं। उन्होंने कहा कि यदि कांग्रेस यह मसला उठाती है तो वह सदन में कांग्रेस के कार्यकाल और मौजूदा सरकार के कार्यकाल में रोजगार मुहैया कराने के आंकड़े पेश करेंगे।

किसानों को बरगला रही कांग्रेस

कौशिक ने कहा कि कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं रहा तो वह कृषि कानूनों को लेकर किसानों को बरगला रही है। पूर्व में कांग्रेस ने वादा किया था कि सत्ता में आने पर वह कृषि बिलों को लाएगी। अब केंद्र की भाजपा सरकार इन्हें लेकर आई है तो वह विरोध कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ऐसी राजनीति को हवा दे रही है, जो किसानों के हित में नहीं है।