एसएसपी सहारनपुर की बड़ी कार्रवाई, कोतवाल लाइन हाजिर, पूरी भायला पुलिस चौकी सस्पेंड

देवबंद में एसपी देहात के नेतृत्व में हुई कार्रवाई, मुठभेड़ के बाद सात लोग गिरफ्तार

पुलिस ने भारी मात्रा में बरामद किया मांस

प्रशांत त्यागी, देवबंद। संवाददाता

अवैध पशु कटान पर अंकुश लगाने में नाकाम हो रही देवबंद पुलिस के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है। मामले में लापरवाही बरतने पर एसएसपी सहारनपुर डॉक्टर विपिन ताडा ने देवबंद कोतवाली प्रभारी को लाइन हाजिर करते हुए पूरी चौकी को सस्पेंड कर दिया, एसएसपी की इस बड़ी कार्रवाई से जनपद में खलबली मच गई।
देवबंद में अवैध पशु कटान और गोकशी की शिकायत मिलने पर एसएसपी सहारनपुर डॉक्टर विपिन ताडा द्वारा एसपी देहात सूरज राय से खुफिया जांच कराई गई जिसमें पुलिस द्वारा अवैध पशु कटान की शिकायत सही पाई गई और इस मामला में आधा दर्जन आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। एसएसपी द्वारा जारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि जब पुलिस टीम अवैध पशु कटान की शिकायत पर मौके पर पहुंची तो आरोपियों द्वारा पुलिस पर हमला किया गया, इस मामले में 7 अभियुक्तों के खिलाफ कोतवाली देवबंद में मुकदमा दर्ज किया गया है, जिनमें से राजू उर्फ इसरार, सलमान और रहमान उर्फ टमाटर को पुलिस ने मौके से गिरफ्तार कर लिया।

वहीं एसएसपी विपिन ताड़ा द्वारा लापरवाही बरतने पर कोतवाली प्रभारी एचएन सिंह को लाइन हाजिर कर दिया, इतना ही नहीं बल्कि एसएसपी ने भायला पुलिस चौकी प्रभारी सचिन त्यागी सहित चौकी के सभी पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया। एसएसपी की इस बड़ी कार्रवाई से देवबंद के साथ-साथ पूरे जनपद में पुलिस विभाग में खलबली मची गई।

एसपी देहात सागर जैन ने बताया कि इस मामले में देवबंद कोतवाली पुलिस विशेष कर भायला पुलिस चौकी पर तैनात पुलिसकर्मियों की घोर लापरवाही उजागर हुई है। उन्होंने इसकी रिपोर्ट एसएसपी डाॅ. विपिन ताडा को दी।
एसएसपी ने प्रभारी निरीक्षक हृदय नारायण को लाइन हाजिर करने के साथ ही भायला पुलिस चौकी पर तैनात उपनिरीक्षक सचिन त्यागी और भूषण, सिपाही सूरज कुमार, सिंटू चौधरी और इरशाद अली को निलंबित कर दिया।

बता दें कि देवबंद अवैध पशु कटान के मामले में एसएसपी से शिकायत की गई थी। सूत्रों के मुताबिक, एसएसपी ने पूरे मामले की जांच गोपनीय रूप से कराई तो पूरा मामला साफ हो गया। इसमें थाना प्रभारी एचएन सिंह व भायला चौकी प्रभारी की लापरवाही सामने आई है जिस के बाद यह कारवाई की गई।

प्रशांत त्यागी

"
""
""
""
""
"

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ये भी पढ़ें