दंडी स्वामी सहजानन्द सरस्वती स्मृति में सम्मान समारोह आयोजित देश भर से भूमिहार समाज लोग कार्यक्रम में हुए शामिल

अनुज त्यागी राजसत्ता पोस्ट

गोरखपुर 5 सितंबर।कल दिनांक 4 सितंबर को योगी गंभीरनाथ प्रेक्षागृह में भारत के प्रथम किसान नेता व किसानों के लिए आंदोलन करने वाले दंडी स्वामी सहजानन्द सरस्वती स्मृति सम्मान समारोह आयोजित किया गया।
जिसमे पूर्वांचल एवं बिहार से भूमिहार समाज के गणमान्य व्यक्तियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई, कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राजगुरु मठ शिवाला घाट काशी के पीठाधीश्वर दंडी स्वामी अनंतानंद सरस्वती जी माहारज व कार्यक्रम की अध्यक्षता सुप्रीम कोर्ट दिल्ली बार एसोसिएशन कॉउंसिल के उपाध्यक्ष प्रदीप राय ने की।

कार्यक्रम में उपस्थित समाज के लोगों को संबोधित करते दंडी स्वामी अनंतानंद सरस्वती जी माहारज


इस कार्यक्रम में शिक्षा जगत ,मेडिकल फील्ड ,कृषि क्षेत्र ,पत्रकारिता आईएएस, पीसीएस आदि क्षेत्रों में अपनी प्रतिभा से समाज का गौरव बढ़ा रहे भूमिहार समाज के प्रतिनिधियों को सम्मानित किया गया एवं समाज को एकजुटता, समरसता पर जोर दिया गया एवम राजनीति में अपनी भागीदारी एवं हिस्सेदारी अपनी एकता के माध्यम से सरकारो से लेने पर बात हुई ।
इस सम्मेलन में पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भूमिहार समाज के श्रीकांत त्यागी के परिवार पर हुए पुलिसिया उत्पीड़न पर भी चर्चा हुई और सभी ने एक सुर में कहा की सिर्फ पूर्वांचल ही नही पूरे बिहार एवं देश के भूमिहार श्रीकांत त्यागी जी के परिवार के साथ हैं।

कार्यक्रम के आयोजक डॉ श्याम नारायण राय, राजेश कुमार राय,डॉ महेंद्र राय, डॉ प्रमोद भाई थे।

कार्यक्रम में चनपटिया बिहार से विधायक उमाकांत सिंह , बिहार में एमएलसी राजीव सिंह जी,रालोद प्रदेश अध्यक्ष रामाशीष राय,मऊ यूपी के जिला पंचायत अध्यक्ष मनोज राय , तमकुही कुशीनगर से विधायक डॉ.असीम कुमार ,पूर्व कैबिनेट मंत्री यूपी सरकार डॉ पी. के राय , मेहदावल संत कबीर नगर पूर्व विधानसभा प्रत्याशी सपा के कद्दावर नेता जय पांडेय,भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच के जिलाध्यक्ष संत कबीर नगर आदित्य राय,प्रेमा एजुकेशनल ग्रुप मेहदावल संत कबीर गर की एम. डी अंजना पांडेय जी पुत्र वधु चंद्र शेखर पांडेय पूर्व लोकसभा प्रत्याशी भाजपा संत कबीर नगर, ब्लॉक् प्रमुख गुड्डू राय जी देवरिया ,मनोज राय ब्लाक प्रमुख,भाजपा जिलाउपाध्यक्ष संत कबीर नगर अमर राय ,एवं अलग अलग क्षेत्र से तमाम हस्तियों ने भागेदारी की जिसमे सभी लोगों ने स्वामी सहजानन्द के बताए हुए रास्ते पर चलने पर जोर दिया।।

"
""
""
""
""
"

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *