Home उत्तर प्रदेश किशोरियों एवं बालिकाओं को स्वास्थ्य और कानूनी अधिकारों के प्रति किया जागरुक

किशोरियों एवं बालिकाओं को स्वास्थ्य और कानूनी अधिकारों के प्रति किया जागरुक

रिपोर्टर-रविता

मेरठ। ग्रामीण समाज विकास केंद्र की ओर से गांव खरदौनी में जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें संस्था के सचिव मेहर चंद जी ने किशोरियों एवं बालिकाओं को जागरुक करते हुए कानूनी एवं महिला अधिकारों के प्रति जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य लड़कियों को समान अधिकार, उनको सहयोग और सुविधाएं मुहिया कराना, लडकियों के प्रति भेदभाव को लेकर लोगों को जागरुक करना है। जिससे किशोरी एवं बालिकाएं शिक्षा पर ध्यान दें और उनका भविष्य उज्जवल हो सके। उन्होने किशोरियों एवं बालिकाओं को स्वास्थ्य शिक्षा, खान-पान और पोषण संबधी जानकारी दी और बताया कि आयरन की गोली का सेवन दूध के साथ न करें, इसका सेवन नींबू, संतरा आदि के साथ किया जाना चाहिए, ताकि आयरन का अवशोषण सुचारू रूप से हो सके। भोजन में

पालक, मेथी, बथुआ, सरसों, गुड़ आदि की मात्रा बढ़ाएं क्योंकि इसमें आयरन की मात्रा अधिक होती है। अंकुरित दालों को हरी पत्तेदार सब्जियों के साथ पकाकर खाना चाहिए। उन्होंने बताया कि शरीर में कमजोरी आना, बार-बार चक्कर आना, शरीर में ऊर्जा की कमी होना, लगातार सिर दर्द होना, भोजन निगलने में कठिनाई होना, भूख की कमी होना, शरीर का रंग पीला पड़ना आदि एनीमिया के लक्षण हैं, यदि इनमें से कोई भी लक्षण दिखाई दे तो तुरंत चिकित्सक की सलाह लें।

उन्होने बताया कि बालिकाओं एवं किशोरियों को आपातकाली हेल्प लाइन नंबर (1090 वूमेन पावर लाइन, 181 महिला हेल्पलाइन,1098 चाइल्ड लाइन, 112 पुलिस आपातकालीन सेवा, 1076 मुख्यमंत्री हेल्पलाइन, 102 स्वास्थ्य सेवा, 108 एम्बुलेंस सेवा व 1800-180-5145 चिकित्सीय हेल्पलाइन) और कानून संबधी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कोई भी बालिका एवं किशोरी किसी भी संकट की परिस्थिति में इन हेल्प लाइन नंबरों पर कॉल कर सकती है, उसकी पहचान गोपनीय रखी जाएगी और सरकार की तरफ से हर संभव मदद की जाएगी। किसी भी महिला को डरने और कोई उत्पीड़न सहने की आवश्यकता नहीं है।

बता दें कि ग्रामीण समाज विकास केंद्र एक सामाजिक संस्था है जो 1989 से लगातार महिलाओं के स्वास्थ्य एवं उनके अधिकारों के प्रति लोगों को जागरुक करने और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए काम कर रही है। कार्यक्रम को सफल बनाने में संस्था के सचिव मेहर चंद जी, प्रोग्राम कॉरडिनेटर अमित कुमार, एनिमिनेटर सुभाष, नीरज शर्मा, देवेंद्र आदि लोग उपस्तित रहे।