फर्जी संस्थानों को करोड़ों की स्कॉलरशिप बाँटने वाला या अधिकारी हुआ गितफ्तार

खबरे सुने

करोड़ों के छात्रवृत्ति घोटाले में एसआईटी ने रिटायर सहायक समाज कल्याण अधिकारी मुनीष कुमार त्यागी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी अधिकारी पर दो फर्जी शिक्षण संस्थानों को साढ़े तीन करोड़ से अधिक की छात्रवृत्ति बांटने का आरोप है। एसआईटी ने आरोपी अधिकारी को देहरादून के न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया है।

एसआईटी ने घोटाले में मानवभारती विश्वविद्यालय सोलन हिमाचल के खिलाफ छात्रवृत्ति हड़पने के आरोप में केस दर्ज किया था। 2012-13 और 2013-14 में छात्रवृत्ति की धनराशि तीन करोड़ 68 लाख 56 हजार रुपये संस्थान एवं छात्रों के बैंक खातों में प्रदान करने का दावा किया गया था। जांच में मानव भारती विवि की रजिस्ट्रार ने छात्रों का अपने विवि से संबंधित न होने और इस पूरे प्रकरण के संबंध में कुछ भी पता होने से अनभिज्ञता प्रकट की थी।

जांच में आया कि उनके विवि कीसंबद्धता का फर्जी दावा करते हुए किरन इन्स्टीट्यूट ऑफ मेनजमेंट एंड टेक्नोलाजी के सुभाष पुत्र बाबूराम, उसकी पत्नी किरण देवी निवासीगण ग्राम पनियाला रुड़की हरिद्वार, मानव भारती विवि एन पावर एकेडमी रानीपुर मोड़ के संचालक राहुल विश्नोई पुत्र केके विश्नोई निवासी मनीराम रोड ऋषिकेश एवं मानव भारती विवि सोलन हिमाचल प्रदेश के संचालक अश्वनी टंडन पुत्र प्रकाश नारायण निवासी 166 आवास विकास थाना गंगनहर रुड़की के बैंक खातों में छात्रवृत्ति की रकम ट्रांसफर की गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.