Home उत्तर प्रदेश उप्र के श्रृंगवेरपुर में स्थापित की जाएगी भगवान राम की मूर्ति

उप्र के श्रृंगवेरपुर में स्थापित की जाएगी भगवान राम की मूर्ति

प्रयागराज । उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने मंगलवार को कहा कि श्रृंगवेरपुर में भगवान राम की एक विशाल प्रतिमा स्थापित की जाएगी, जहां पर लोककथाओं के अनुसार, राम ने सीता और लक्ष्मण के साथ वनवास के लिए गंगा नदी को पार किया था। श्रृंगवेरपुर धाम की मूर्ति अयोध्या में बन रही मूर्ति के जैसे ही होगी। योगी आदित्यनाथ की सरकार द्वारा पहले से ही इस बात की घोषणा कर दी गई है कि अयोध्या में 251 मीटर लंबी भगवान राम की प्रतिमा स्थापित की जाएगी, जिसे दुनिया में सबसे ऊंचा करार दिया जाएगा।

रामायण में, श्रृंगवेरपुर को राजा निषादराज के राज्य के रूप में वर्णित किया गया है जिन्होंने उस वक्त भगवान राम की मदद की थी, जब वह 14 साल के अपने वनवास पर थे।

खुदाई के दौरान, ऋषि श्रृंगी के भी एक मंदिर पता लगा। श्रृंगवेरपुर लखनऊ रोड पर प्रयागराज से लगभग 45 किमी दूर स्थित है।

मौर्य ने कहा, “श्रृंगवेरपुर धाम में निषाद राज और ऋषि भारद्वाज की मूर्तियों के बगल में भगवान राम की प्रतिमा स्थापित की जाएगी। प्रभु श्रीराम के अलावा देवी सीता, लक्ष्मण और हनुमान की मूर्तियां भी बैठाई जाएंगी।”

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि प्रयागराज के विभिन्न चौराहों पर अगले कुछ वर्षो में प्रख्यात संतों की मूर्तियां स्थापित की जा सकती हैं।

उन्होंने आगे कहा, “इस संबंध में एक प्रस्ताव राज्य सरकार के पास विचाराधीन है।”