Home राष्ट्रीय राजमाता विजयाराजे सिंधिया की जयंती पर अमित शाह ने किया नमन

राजमाता विजयाराजे सिंधिया की जयंती पर अमित शाह ने किया नमन

नयी दिल्ली । केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित कई भाजपा नेताओं ने सोमवार को ग्वालियर राजघराने की राजमाता विजया राजे सिंधिया को उनकी जयंती पर याद करते हुए उन्हें विचारों और सिद्धांतों की अद्वितीय प्रतिमूर्ति बताया। शाह ने ट्वीट कर कहा, ‘‘राजमाता सिंधिया जी ने अपने त्याग और राष्ट्रभक्ति से देश की राजनीति को नयी दिशा प्रदान की। राष्ट्र व विचारधारा के प्रति उनका समर्पण वंदनीय था। आपातकाल के समय लोकतंत्र को बचाने के लिए उन्होंने अत्याचारी शासन की घोर यातनाएं सही। विचारों और सिद्धांतों की अद्वितीय प्रतिमूर्ति को नमन।’’ विजयाराजे सिंधिया ग्वालियर राजघराने की राजमाता होने के साथ-साथ भाजपा की संस्थापक सदस्यों में से एक रही हैं। वह पांच बार लोकसभा और एक राज्यसभा की सदस्य निर्वाचित हुई थीं। आज उनकी 100वीं जयंती है। नड्डा ने उन्हें हर नागरिक के लिए प्ररेणास्रोत बताया और ट्वीट किया, ‘‘अपना सम्पूर्ण जीवन समाज कल्याण के लिए समर्पित करने वाली राजमाता विजयाराजे सिंधिया जी की जयंती पर उन्हें शत् शत् नमन।

देश के लिए दूरदर्शिता रखने वाली राजमाता सिंधिया, हर नागरिक के लिए प्रेरणास्रोत है।’’ सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने उन्हें नमन करते हुए कहा, ‘‘राजमाता सिंधिया ने राजसी जीवन त्याग कर संपूर्ण जीवन आम जन की सेवा में लगा दिया। त्याग व समर्पण की प्रतिमूर्ति रहा उनका जीवन हम सभी के लिए प्रेरणास्त्रोत है।’’ विजया राजे सिंधिया का जन्म 12 अक्टूबर 1919 को मध्य प्रदेश के सागर में हुआ था। उनके बेटे माधव राव सिंधिया कांग्रेस के कद्दावर नेता रहे हैं। राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया और मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया उनकी पुत्री हैं। माधव राव के बेटे ज्योतिरादित्य सिंधिया लंबे समय तक कांग्रेस में रहने के बाद अब भाजपा में शामिल हो चुके हैं।

आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने ‘मां’ विजयाराजे सिंधिया जी की स्मृति में आज 100 रु का सिक्का जारी कर राजमाता जी को श्रद्धांजलि अर्पित की है। इस गौरवमयी व ऐतिहासिक सम्मान के लिए मैं भारत सरकार व प्रधानमंत्री जी का तहे दिल से आभार व्यक्त करती हूं।

कुछ पदचिह्नों पर चलते हैं, कुछ पदचिह्न बनाते हैं। राजमाता जी का आदर्श जीवन पार्टी के सभी कार्यकर्ता, बड़े या छोटे को यह सीख देता है कि समाज की सेवा व राष्ट्र का उत्थान सर्वोपरि संकल्प होता है।

राजमाता जी का जीवन वैसे तो एक खुली किताब के समान है, लेकिन माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज उनकी जीवन यात्रा को सबके सामने रखकर उनके सिद्धांतों व विचारों को विस्तृत रूप दिया है।
वसुंधरा राजे सिंधिया