Home उत्तर प्रदेश यूपी भाया अमेरिका के उद्योगपतियों को, सीएम योगी की नीतियों को सराहा…

यूपी भाया अमेरिका के उद्योगपतियों को, सीएम योगी की नीतियों को सराहा…

लखनऊ। अमेरिका में निवासरत उत्तर प्रदेश मूल के उद्योगपतियों की ओर से प्रदेश में भारी औद्योगिक निवेश के प्रस्ताव आए हैं। यूपी के वर्तमान माहौल को निवेश के अनुकूल ठहराते हुए उद्योगपतियों ने सरकार के साथ मिलकर काम करने की इच्छा जताई है। उत्तर प्रदेश एसोसिएशन ऑफ नार्थ अमेरिका (उपाना) के बैनर तले आयोजित इंवेस्टमेंट और टूरिज्म कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ हुए संवाद में निवेशकों ने सरकार की नीतियों की सराहना की। उन्होंने मुख्यमंत्री को अपने निवेश प्रस्तावों की जानकारी दी।

मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित इस वर्चुअल कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में प्रकृति और परमात्मा की असीम अनुकंपा रही है। अयोध्या में दिव्य-भव्य राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण से उत्साहित निवेशकों से मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार अयोध्या को दुनिया के सबसे खूबसूरत शहर के रूप में विकसित करने की योजना पर काम कर रही है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश सरकार बुंदेलखंड, पूर्वांचल, गोरखपुर लिंक, और गंगा एक्सप्रेस-वे का निर्माण करा रही है। यह एक्सप्रेस वे विकास की रफ्तार को तेज करेंगे। इनके किनारे इंडस्ट्रियल क्लस्टर और टाउनशिप विकसित करने की भी योजना है। निजी क्षेत्र के लिए यह अच्छा अवसर है।

उन्होंने कहा कि हेल्थकेयर सुविधाओं के विस्तार के लिए प्रदेश के सभी 75 जिलों में मेडिकल कॉलेज की स्थापना की जा रही है। प्रदेश में वर्ष 2017 तक कुल 12 मेडिकल कॉलेज थे। महज तीन साल में 30 नए मेडिकल कॉलेजों का निर्माण चल रहा है। हालांकि अभी 16 ऐसे जिले हैं, जहां निजी या सरकारी क्षेत्र के मेडिकल कॉलेज नहीं हैं। इसके लिए सरकार जल्द नई नीति लाएगी।

कार्यक्रम में उपाना के संस्थापक और ट्रस्टी राकेश अग्रवाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश के समग्र और सतत विकास में उनका संगठन सहभागी होने का इच्छुक है। बहुत से उद्यमी जो मूल रूप से यूपी से हैं और आज अमेरिका में निवासरत हैं, यूपी में निवेश करना चाहते हैं। फार्मास्युटिकल कंपनी के संस्थापक राकेश श्रोतिया ने सीएम की कार्यशैली की तारीफ करते हुए यूपी में फार्मास्युटिकल कंपनी और कैंसर हॉस्पिटल की स्थापना के लिए प्रस्ताव दिया। निवेशकों ने हजारों करोड़ रुपये के प्रस्ताव प्रदेश सरकार को दिए हैं।