Home उत्तर प्रदेश यूपी के लखीमपुर से गायब चारों छात्राएं उत्‍तराखंड में म‍िलीं, घर से...

यूपी के लखीमपुर से गायब चारों छात्राएं उत्‍तराखंड में म‍िलीं, घर से रुपये चुराकर बनाई थी ये प्‍लान‍ि‍ंंग

लखीमपुर। सदर कोतवाली इलाके से सोमवार को संदिग्ध हालातों में लापता हुई चारों छात्राओं की बुधवार को सकुशल बरामदगी हो गई है। यह चारों छात्राएं उत्तराखंड घूमने चली गई थीं। यहां की पुलिस टीम ने वहां जाकर छात्राओं को बरामद कर लिया है। पुलिस की टीम वहां जाकर छात्राओं को लाने की तैयारी कर रही है। 48 घंटे तक पुलिस और प्रशासन में मचा रहा हड़कंप।

शहर के एक इंटर कॉलेज की हाई स्कूल की तीन और इंटर की एक छात्रा सोमवार की सुबह घर से कॉलेज जाने के लिए निकली थीं, पर वहां पहुंची नहीं और न ही घर वापस लौटीं। संभावित जगहों पर उनकी तलाश कर लेने के बाद परेशान हाल परिवारजन ने सदर कोतवाली पुलिस को सोमवार देर शाम मामले की सूचना दी थी, जिसके बाद हरकत में आई पुलिस ने मामले की एफआइआर दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी थी।

तकनीकी टीम ने जुटाई लोकेशन 

एसपी विजय ढुल ने छात्राओं की तलाश के लिए एएसपी अरुण कुमार सिंह और सीओ सिटी अरविंद कुमार वर्मा के नेतृत्व में पुलिस की छह अलग-अलग टीमों को लगाया था, जो लखीमपुर के अलावा आसपास के जिलों सीतापुर, लखनऊ, में भी छानबीन करती रहीं। साथ ही सर्विलेंस समेत सीसी कैमरों की फुटेज और अन्य तकनीकी मदद भी ली गई। इससे मंगलवार को यह तथ्य सामने आए थे कि छात्राएं लखीमपुर से रोडवेज बस में बैठकर सीतापुर गई थीं। उसके आगे वह कहां गईं, इसका पता मंगलवार को शाम तक नहीं चल पाया था। हालांकि इसके बाद पुलिस टीम ने विभिन्न तकनीकी स्रोतों समेत मुखबिरों की मदद से जानकारी जुटानी जारी रखी और बुधवार सुबह छात्राओं के बारे में पता चल गया।

होटल में ढहरी थी छात्राएं 

एसपी विजय ढुल ने बताया कि छात्राएं यहां से उत्तराखंड घूमने के उद्देश्य से चली गई थीं। वहां टिहरी गढ़वाल जिले के मुनि की रेती थाना अंतर्गत एक होटल में वह ठहरी थीं। जहां से उन्हें सकुशल बरामद कर लिया गया है। उत्तराखंड गई लखीमपुर की पुलिस टीम वहां से छात्राओं को वापस लेकर आएगी। छात्राओं की बरामदगी में उत्तराखंड पुलिस का भी पूरा सहयोग मिला है। इसके लिए एसपी ने टिहरी गढ़वाल के एसपी व उनकी पूरी टीम का आभार प्रकट किया है। एसपी ने यह भी बताया कि छात्राओं की बरामदगी के लिए लगाई गई खीरी पुलिस की टीम को उन्होंने 25000 रुपये का पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र देने की घोषणा की है।