Home मनोरंजन आमिर खान की बेटी इरा खान हुई थीं यौन उत्पीड़न का शिकार,...

आमिर खान की बेटी इरा खान हुई थीं यौन उत्पीड़न का शिकार, सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर कर सुनाई आपबीती

बॉलिवुड ऐक्टर आमिर खान की बेटी इरा खान भले ही फिल्मी दुनिया से दूर हैं लेकिन सोशल मीडिया पर काफी ऐक्टिव रहती हैं। इरा खान ने ‘वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे पर अपने डिप्रेशन को लेकर एक वीडियो शेयर किया था। जिसको लेकर हर तरफ खूब चर्चा हुई थी। उन्होंने फिर से एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया है। इसमें उन्होंने अपनी जिंदगी से जुड़े कई राज खोले हैं।

सोशल मीडिया पर शेयर किए गए वीडियो में इरा खान कह रही हैं, ‘काफी लोगों ने मुझे पूछा कि मैं डिप्रेस्ड क्यों हूं और इस बात का जवाब मैं भी नहीं दे पाऊंगी क्योंकि मुझे खुद ही नहीं पता। पिछले कई साल से मैं इसे समझने की कोशिश कर रही हूं लेकिन कोई सीधा और सही जवाब नहीं है। आज मैं आपको मेरी आसान और सहूलियत भरी जिंदगी के बारे में बताना चाहती हूं। पैसों को लेकर मुझे कभी दिक्कत नहीं हुई। मेरे पास एक सपॉर्ट सिस्टम है। मेरे मा-बाप, मेरे दोस्त उन्होंने कभी मुझे किसी चीज का कोई दवाब नहीं दिया। मुझे पता था कि अगर मेरी जिंदगी में कुछ भी हुआ तो मैं अपने मां-बाप के पास जाकर उनसे बात कर सकती हूं।’

इरा खान आगे कह रही हैं, ‘मैंने खुद का ख्याल रखना बंद कर दिया। मैं बहुत ज्यादा सोने लगी। अपनी जिंदगी न जीने के बहाने में मैं वक्त सोने में गुजारती थी। पहले में काफी बिजी रहती थी फिर धीरे-धीरे मैं बेड से निकल ही नहीं पाती थी। अलग-अलग चीजों में भाग लेती थी और प्रॉमिस करती थी कि मैं आऊंगी लेकिन मैं जा ही नहीं पाती थी। फिर मैंने चीजों में भाग लेना बंद कर दिया। फिर मैंने अपने दोस्तों से बात करना बंद कर दिया क्योंकि मेरे मूड रोज-रोज खराब रहने लग गया था। मैं म्यूजिक भी नहीं सुन पाती थी क्योंकि उसमें भी आपको खुद के साथ रहना पड़ता है।

तो मुझे टीवी देखना पड़ता था ताकि मैं खुद को उलझाए रखूं और मुझे रोना ना आए। मेरा डिप्रेशन मेरा रोना बहुत बड़ा था क्योंकि मैं ऐसी इंसान नहीं हूं, जिसे रोना बहुत जल्दी आ जाता है। 17 साल के बाद मेरा रोना शुरू हो गया। धीरे-धीरे रोना बढ़ता गया, कभी भी ये हो जाता था लेकिन कोई वजह नहीं थी। मुझे पता नहीं था कि मैं क्या करूं इसलिए मैं बाथरूम भाग जाती थी। मुझे पता नहीं होता था कि मैं क्यों रोती हूं।’

 

इरा खान कह रही हैं, ‘जब मैं छोटी थी तो मेरे पैरंट्स का तलाक हो गया लेकिन उसको लेकर मुझे कोई बहुत बड़ा सदमा पहुंचा हो, ऐसा कुछ नहीं हुआ। मेरे मां-बाप अभी भी बहुत अच्छे दोस्त हैं, कोई बिखरा हुआ परिवार नहीं है। जब मैं 6 साल की थी तब मुझे टीबी हुआ। तो टीबी भी मेरे लिए इतनी बुरी चीज नहीं थी कि मैं इतनी दुखी हूं। जब मैं 14 साल की थी तो मेरा यौन शोषण हुआ था। तो मुझे पता नहीं था कि क्या हो रहा है, लेकिन जब मुझे पता चला तो मैं इससे दूर चली गई। हां मुझे बुरा लगा कि मैंने अपने साथ ये क्यों होने दिया, लेकिन यह भी कोई जिंदगी भर का इतना बड़ा सदमा नहीं था कि मैं डिप्रेशन में जाऊं। मुझे घुटन हो रही है, मैं रो रही हूं, ये मैं अपने दोस्तों और मां-बाप को बता सकती हूं, पर क्या बताऊं। वह मुझसे पूछेंगे क्यों? तो मैं क्या बताऊंगी। मेरे साथ कुछ बुरा ही नहीं हुआ है जैसा मैं महसूस कर रही हूं। इस सोच ने मुझे उनसे बात करने से रोक दिया।’