Home उत्तर प्रदेश 55 लोग हुए ट्रेस, पुलिसकर्मियों को निशाना बना रहा पश्चिम चंपारण का...

55 लोग हुए ट्रेस, पुलिसकर्मियों को निशाना बना रहा पश्चिम चंपारण का गिरोह

अलीगढ़। रेंज स्तर पर एटा के सेवानिवृत्त सिपाही अमर सिंह के साथ हुई अब तक की सबसे बड़ी 50 लाख की ठगी के पीछे बिहार के पश्चिम चंपारण का गिरोह का हाथ सामने आया है। पुलिस की जांच में 55 लोग ट्रेस हुए हैं। पुलिस कड़ी से कड़ी जोड़ने में लगी है। जल्द ही एक टीम बिहार जाकर गिरोह का पर्दाफाश करेगी।

शातिर ने ऐसे पुलिस कर्मियों को ठगा

रेंज स्तर पर बने साइबर थाने में 19 जनवरी 2021 को रेंज की सबसे बड़ी ठगी का मुकदमा दर्ज हुआ था। यह ठगी एटा के श्याम बिहारी कालोनी निवासी सेवानिवृत्त सिपाही अमर सिंह के साथ हुई। अमर सिंह 31 दिसंबर 2020 को पुलिस विभाग से बतौर हेड कांस्टेबल सेवानिवृत्त हुए थे। उनकी तैनाती हाथरस में थी। रिटायरमेंट के बाद छह जनवरी को सात लाख रुपये आए। फिर सात जनवरी को उनके खाते में 14.80 आने थे। इसकी जानकारी अमर सिंह को नहीं थी, लेकिन शातिर ने इसका पता लगाया और उन्हें काल किया। खुद को डिप्टी एसपी बताया और कहा कि आपके खाते में 14.80 रुपये आएंगे। जब उन्होंने खाते की जांच की तो वाकई में पैसे देखकर भरोसे में आ गए। इसके बाद शातिर के बताने पर पासबुक व आधार कार्ड कार्ड की फोटो कापी भेज दी। एटीएम कार्ड की एक्सपायरी डेट भी बता दी। कुछ देर बाद उनके खाते से 50 लाख रुपये कट गए थे। साइबर थाने के इंस्पेक्टर सुरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि शातिर ने 61 खातों में ठगी की रकम को ट्रांसफर किया है। इनमें एक खाते को ट्रेस करके दो लाख रुपये वापस भी करा दिए हैं। अन्य खातों को ट्रेस करने पर पता चला है कि गिरोह बिहार के पश्चिम चंपारण का है। 55 लोग ट्रेस हुए हैं। जल्द ही इनकी गिरफ्तारी की जाएगी।