अल्मोड़ा संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस के 14 सीटों से 47 दावेदार

खबरे सुने

अल्मोड़ा : कांग्रेस की स्क्रीनिंग कमेटी ने अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ संसदीय क्षेत्र के चार जिलों की 14 विधानसभा सीटों के दावेदारों की नब्ज टटोली। इसमें 47 दावेदारों ने टिकट की चाह रखी है। इसमें पांच विधानसभा क्षेत्र धारचूला, कपकोट, रानीखेत, जागेश्वर, द्वाराहाट से एक-एक दावेदार के नाम आने से उनका टिकट लगभग फाइनल माना जा रहा है। अन्य नौ विधानसभा सीटों पर टिकट फाइनल करने में संगठन को खासी मशक्कत करनी पड़ सकती है।

शनिवार को सर्किट हाउस में राजनीतिक हलचल काफी तेज रही। कांग्रेस की स्क्रीनिंग कमेटी ने एक-एक कर सभी 47 दावेदारों से बातचीत कर जानकारी जुटाई। संगठन में उनके कार्यों के बारे में भी पूछा गया। धारचूला से हरीश धामी, रानीखेत से करन माहरा, जागेश्वर से गोङ्क्षवद कुंजवाल, कपकोट से ललित फस्र्वाण और द्वाराहाट सीट से मदन बिष्ट ने ही दावा किया। धारचूला, जागेश्वर, रानीखेत सीट से वर्तमान में कांग्रेस के विधायक हैं। इसलिए उनका टिकट भी लगभग फाइनल ही माना जा रहा है। नौ सीटों पर 42 नामों के संबंध में अंतिम मुहर सेंट्रल स्क्रीङ्क्षनग कमेटी लगाएगी।

अल्मोड़ा सीट से छह, सल्ट से पांच डीडीहाट व बागेश्वर से सात-सात व गंगोगलीहाट से तीन दावेदारों ने ताल ठोंकी है। वहीं चम्पावत जिले से सबसे अधिक आठ दावेदार हैं। सोमेश्वर, लोहाघाट व पिथौरागढ़ से दो-दो दावेदार हैं। इनमें से कुछ सीटों पर टिकट फाइनल होने के बाद बगावत के भी सुर उठ सकते हैं। अल्मोड़ा विधानसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक मनोज तिवारी, सल्ट से गंगा पंचोली, डीडीहाट से प्रदीप पाल, रमेश कापड़ी, रेवती जोशी गंगोलीहाट से पूर्व विधायक नारायण राम, चम्पावत से पूर्व विधायक हेमेश खर्कवाल, बागेश्वर से बालकृष्ण, भैरवनाथ टम्टा, सज्जन लाल टम्टा, रंजीत दास ने भी दावेदारी पेश कर संगठन के सामने उलझनें पैदा कर दी है। यह सभी दिग्गज पहले कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.