26 मई को मनाया जाएगा काला दिवस
P

चंडीगढ़। भारतीय किसान यूनियन (उगराहां) ने कृषि कानूनों के विरोध में 26 मई को देशव्यापी काला दिवस मनाने का फैसला किया है। साथ ही पंजाब से 23 मई को दिल्ली कूच और पटियाला में कई स्थानों पर 28 मई से पक्के धरने लगाने की घोषणा की है। बता दें कि भारतीय किसान यूनियन (उगराहां) पंजाब का सबसे बड़ा किसान संगठन है।

चंडीगढ़ स्थित किसान भवन में शुक्रवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए भारतीय किसान यूनियन (उगराहां) के अध्यक्ष जोगिंदर सिंह उगराहां ने घोषणा की है कि केंद्र के तीनों कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन को तेज करते हुए संयुक्त किसान मोर्चा के 26 मई को देशव्यापी काला दिवस मनाने के आह्वान पर पंजाब के विभिन्न जिलों और गांवों में काले झंडे फहराए जाएंगे। साथ ही भाजपा सरकार के विरोध में नेताओं के पुतले भी जलाए जाएंगे। इस आंदोलन में विभिन्न विभागों के कर्मचारियों, श्रमिकों और कर्मचारियों को शामिल करने का प्रयास किया जाएगा। 
उन्होंने कहा कि 23 मई से प्रत्येक रविवार को पंजाब के विभिन्न क्षेत्रों के किसान और मजदूर कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए किसान आंदोलन में भाग लेने के लिए दिल्ली की सीमा की ओर कूच करेंगे। सरकार पर मांगों को पूरा करने के लिए दबाव बनाने के लिए 28, 29 और 30 मई को पटियाला में पक्के धरने भी लगाए जाएंगे। दिल्ली की सीमाओं के धरनास्थलों पर कोराना से लड़ने के लिए सभी आवश्यक सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएंगी। 

यूनियन के महामंत्री सुखदेव सिंह कोकरीकलां ने कोरोना संक्रमण के प्रबंधन में पंजाब सरकार को फेल बताया। उन्होंने कहा कि सरकार को तत्काल बड़े निजी अस्पतालों को अपने नियंत्रण में लेना चाहिए। भारतीय किसान यूनियन (उगराहां) ने सरकार से सभी को मुफ्त टीकाकरण की मांग की।

Share this story