अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में तेल के दामों में भारी कमी, तिलहन बाजार में देखी गई नरमी
til

जिस तरह से तेल के दाम आसमान छू रहे हैं लोगों को अपनी जीविका चलाना बहुत दूभर हो रहा है । इसका सीधा असर बाजार पर भी पड़ा है ।खाद्य तेल में बढ़े दामों के देखते इसकी खरीद पर भी काफी असर पड़ा और अंतरराष्ट्रीय बाजारों में तेल की खरीद कम हो गई है, जिसके चलते अब तेल के दामों में कुछ कमी आई है ।अंतरराष्ट्रीय बाजार में गिरावट के रुख के बीच स्थानीय तेल तिलहन बाजार में शुक्रवार को सोयाबीन, सीपीओ और पामोलीन सहित लगभग सभी तेल तिलहन कीमतों में गिरावट का रुख रहा. ऊंचे भाव पर मांग कमजोर पड़ने से भी बाजार में नरमी रही.

बाजार सूत्रों ने कहा कि कुछ समाचार पत्रों में आयात शुल्क कम करने को लेकर प्रकाशित रिपोर्टों के सही नहीं निकलने से विदेशों में तेल तिलहनों के भाव टूट गए जिसका सीधा असर देश के घरेलू कारोबार पर दिखा.
उन्होंने कहा कि मलेशिया और इंडोनेशिया में कच्चे पाम तेल (सीपीओ) का काफी स्टॉक जमा हो गया है, इसलिए भाव नरम हैं. मलेशिया एक्सचेंज में पामोलीन का हाजिर भाव 1,190 डॉलर प्रति टन है जबकि जनवरी, फरवरी और मार्च के लिए हाजिर भाव 1,040 डॉलर प्रति टन बोला जा रहा है. यह मौजूदा भाव से लगभग 150 डॉलर या 12 प्रतिशत नीचे है. विदेशों में इस गिरावट की वजह से यहां सीपीओ और पामोलीन की अगुवाई में बाकी तेल तिलहनों के भाव पर दबाव रहा. मलेशिया एक्सचेंज में सीपीओ के भाव में 2.70 प्रतिशत तथा शिकागो में सोयाबीन डीगम के भाव में 1.25 प्रतिशत की गिरावट देखी गई.
सरसों की त्योहारी मांग और बाजार में माल की उपलब्धता कम होने से सरसों दाना का भाव जस का तस बना रहा जबकि सरसों दादरी तेल का भाव 100 रुपए की गिरावट के साथ 17,900 रुपये क्विन्टल पर बंद हुआ. सरसों पक्की और कच्ची घानी तेल भी 15 – 15 रुपए की गिरावट के साथ क्रमश: 2,680-2,730 रुपये और 2,765-2,875 रुपए 15 किग्रा टिन पर बंद हुए.
मांग की स्थिति को देखते हुए सलोनी, आगरा और कोटा में सरसों का दाम 9,500 रुपए क्विन्टल पर टिका रहा. देश की विभिन्न मंडियों में सरसों की आवक जो गुरुवार को लगभग दो लाख बोरी थी, वह शुक्रवार को काफी घटकर एक लाख बोरी के करीब रह गई. जबकि सरसों की मांग प्रतिदिन लगभग साढ़े तीन लाख बोरी की है. जानकारी सूत्रों का कहना है कि इस स्थिति को देखते हुए सरकार को विशेष रूप से छोटे किसानों के लिये बीज का इंतजाम सुनिश्चित करने के लिए बाजार भाव पर खरीद करने के साथ स्टॉक तैयार कर लेना चाहिए.
बाजार के थोक रेट इस प्रकार से रहे
सरसों तिलहन – 8,675 – 8,725 (42 प्रतिशत कंडीशन का भाव) रुपए.
सरसों तेल दादरी- 17,900 रुपए प्रति क्विंटल.
सरसों पक्की घानी- 2,680 -2,730 रुपए प्रति टिन.
सरसों कच्ची घानी- 2,765 – 2,875 रुपए प्रति टिन.

Share this story