सुशील कुमार के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

सुशील कुमार के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

कानूनी सलाह लेने के बाद सुशील जल्द ही मामले में अग्रिम जमानत की याचिका दायर कर सकता है। सुशील को अच्छी तरह पता है कि पुलिस के पास उसके खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं। इसलिए सुशील अपने बचाव में हर संभव प्रयास कर रहा है। 

मामले की छानबीन कर रहे एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि छत्रसाल स्टेडियम में हुए झगड़े के बाद पुलिस की टीम को उम्मीद थी कि सुशील पुलिस की पूछताछ में शामिल हो जाएगा। ऐसा होता तो शायद सुशील की मुश्किलें कम होती। लेकिन भागकर सुशील ने अपनी मुश्किलें बढ़ा ली हैं। पुलिस ने सुशील के खिलाफ घायल अमित, सोनू, रविंद्र और भगत सिंह के बयान दर्ज किए हैं। सभी ने सुशील व उसके बाकी पहलवानों के खिलाफ बयान दिए हैं। वहीं प्रिंस दलाल के मोबाइल से मिली वीडियो फुटेज भी सुशील के खिलाफ अहम सबूत है। ऐसे में सुशील और उसके साथियों के खिलाफ शिकंजा सख्त होता जा रहा है। 
 
दूसरी ओर सुशील के करीबियों का कहना है कि सुशील को जानबूझकर फंसाया जा रहा है। सुशील का कसूर सिर्फ इतना है कि हमला करने वाले सुशील के साथी पहलवान हैं। आरोप है कि सुशील और उसके साथी पहलवानों ने मॉडल टाउन के एक फ्लैट से जबरन अमित, सोनू और सागन नामक पहलवान को उठाकर छात्रसाल स्टेडियम ले आए थे। आरोपियों ने छत्रसाल स्टेडियम की पार्किंग में इनकी जमकर पिटाई की। इसमें सोनू, अमित, सागर, रविंद्र और भगत सिंह घायल हो गए। अस्पताल ले जाने पर सागर की इलाज के दौरान मौत हो गई। सागर पूर्व जूनियर नेशनल चैंपियन था।

Share this story