तेरा ख़याल

तेरा ख़याल

तेरे ख्यालों की झील में ,
उतर रहा था दिल का चाँद,
आहिस्ता आहिस्ता……
काश। कि पुकार लेता कोई,
तेरे इश्क़ में ….
मुझे डूबने से पहले।

तेरा ख़याल

सिम्मी हसन
बेल्थरा रोड, बलिया यूपी

Share this story