उत्तर भारत के अधिकांश क्षेत्रों में मौसम गर्म
u

नई दिल्ली:  उत्तर भारत के अधिकांश मैदानी इलाकों में शनिवार को मौसम गर्म रहा। हालांकि अगले कुछ दिनों में इस क्षेत्र में भारी बारिश होने की संभावना है।


पाली 42.5 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ राजस्थान में सबसे गर्म स्थान रहा जबकि उत्तर प्रदेश में झांसी में सबसे अधिक 41.2 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। दिल्ली, पंजाब और हरियाणा में पारा सामान्य से कुछ डिग्री ऊपर रहा। पूर्वी उत्तर प्रदेश में छिटपुट स्थानों पर भारी बारिश व गरज के साथ बूंदाबांदी देखी गई वहीं हिमाचल प्रदेश में मौसम कार्यालय ने अगले तीन-चार दिनों में भारी बारिश की भविष्यवाणी के साथ भूस्खलन की चेतावनी जारी की।


दिल्ली का अधिकतम तापमान शनिवार को सामान्य से चार डिग्री अधिक 38.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने रविवार दोपहर और शाम को शहर में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश की भविष्यवाणी की। मौसम विज्ञानी ने कहा कि शहर के अधिकांश हिस्सों में मुख्य तौर पर बादल छाए रहने व गरज के साथ बूंदाबांदी होने संभावना है और अधिकतम व न्यूनतम तापमान क्रमश: 35 और 27 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है।

शिमला स्थित मौसम केंद्र ने कहा कि मौसम की हालिया परिस्थिति और अलग-अलग वैश्विक एवं क्षेत्रीय मॉडल के विश्लेषण से संकेत मिला है कि शनिवार से हिमाचल प्रदेश में बारिश की गति बढ़ेगी और अगले-तीन से चार दिन में निचले और मध्य पहाड़ी इलाकों में सामान्य से भारी बारिश होगी।

मौसम केंद्र ने चेतावनी देते हुए कहा कि पूर्वानुमानित मौसमी परिस्थितियों की वजह से राष्ट्रीय और राज्य राजमार्ग पर भूस्खलन की घटनाएं हो सकती हैं और निचले इलाके में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है। नदी- नालों का जलस्तर बढ़ सकता है। इसके अलावा, यातायात, बिजली और संचार व्यवस्था बाधित हो सकती है।

मौसम कार्यालय ने कहा कि इसके मद्देनजर राज्य सरकार के प्राधिकारियों को सलाह दी जाती है कि वे उचित सुरक्षा उपाय करें। कार्यालय के मुताबिक शनिवार के छिटपुट इलाकों में बारिश दर्ज की गई। मौसम केंद्र के मुताबिक शाहपुर में 35 मिलीमीटर (मिमी), मलान में 29 मिमी, गुलर और बारथिन में 12-12 मिमी, पिडाना-डलहौजी-तिस्सो में 10-10 मिमी बारिश दर्ज की गई।

राज्य में सबसे अधिक तापमान उना में 38.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि सबसे कम तापमान लाहौल-स्पीति जिले का प्रशासनिक केंद्र केलांग में दर्ज किया गया। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मौसम कार्यालय ने कहा कि राज्य में छिटपुट स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश और गरज के साथ बूंदाबांदी हुई। सिद्धार्थ नगर, महाराजगंज, बहराइच, सीतापुर, गोरखपुर और शाहजहांपुर में बारिश दर्ज की गई।

मौसम कार्यालय ने कहा कि रविवार को राज्य के अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ बूंदाबांदी और 19 जुलाई व 20 जुलाई को अधिकांश स्थानों पर बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। राजस्थान में 24 घंटों के दौरान कई हिस्सों में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की गईं। टोंक और गंगानगर के सूरतगढ़ में अधिकतम 3-3 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई।

माौसम विभाग के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान उदयपुर के गिरवा, जयपुर के नारायणा और बीकानेर में 2-2 सेंटीमीटर और कुछ अन्य स्थानों पर एक सेंटीमीटर ओर उससे कम बारिश दर्ज की गई। विभाग के अनुसार शनिवार सुबह से शाम तक टोंक में 7 मिलीमीटर, धौलपुर में 5.5 मिलीमीटर, बीकानेर में 3.2 मिलीमीटर, और चूरू में 1.7 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। वहीं पाली 42.5 डिग्री सेल्सियस के अधिकतम तापमान के साथ राज्य में सबसे अधिक गर्म स्थान रहा। धौलपुर और गंगानगर में अधिकतम तापमान 42.2-42.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

हरियाणा और पंजाब के अधिकांश स्थानों पर उमस भरे मौसम की स्थिति बनी रही और अधिकतम तापमान सामान्य से ऊपर रहा। सामान्य राजधानी चंडीगढ़ में अधिकतम तापमान सामान्य से चार डिग्री अधिक 37.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। चंडीगढ़ में मौसम कार्यालय के अनुसार, पंजाब के बठिंडा और हरियाणा के नारनौल में अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस और 40.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

रोहतक में अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 38 डिग्री सेल्सियस जबकि गुड़गांव में सामान्य से पांच डिग्री अधिक 39.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। करनाल का अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 36 डिग्री सेल्सियस दर्ज रहा ।

Share this story