बारिश के मौसम में वायरल संक्रमण और मौसमी बीमारियों ने पकड़ी तेजी
वायरल संक्रमण

कानपुर: बारिश के आते ही जैसे मौसम अपना रंग बदलता है उसके साथ ही शारीरिक बीमारियां अपना रंग दिखाना शुरू कर देती हैं। इन दिनों बुखार खांसी डेंगू जैसी बीमारियों से लोग त्रस्त दिखाई दे रहे हैं। इन बीमारियों का असर हर एक पर साफ दिख रहा है।

उल्टी-दस्त से शरीर में पानी की कमी से किडनी हो रही फेल, वायरस बुखार के साथ खांसी और सांस फूलने से लोग हो रहे हैं बेदम।

जिले ही नहीं आसपास के क्षेत्र में कोरोना वायरस का कहर थमने के बाद अब वायरल संक्रमण आक्रामक हो गया है।एलएलआर अस्पताल एवं बाल रोग विभाग मरीजों से पटे हैं। मेडिसिन विभाग के बेड के सभी बेड फुल हैं, एक बेड पद दो-तीन मरीज भर्ती करने पड़ रहे हैं। वायरस की चपेट में आकर बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक इलाज के लिए आ रहे हैं।

एलएलएआर अस्पताल के इमरजेंसी में बीते 24 घंटे में गंभीर स्थिति में आए तीन मरीजों ने दम तोड़ दिया। उसमें हमीरपुर निवासी 38 वर्षीय शंकरलाल, चमनगंज निवासी 65 वर्षीय अंजनी श्रीवास्तव और महाराजपुर निवासी 25 वर्षीय जय सिंह की इलाज के दौरान मौत हो गई। उन्हें गंभीर स्थिति में इमरजेंसी लाया गया था। डाक्टरों के मुताबिक वायरल बुखार के साथ उन्हें खांसी और सांस लेने की दिक्कत थी।

लापरवाही बरतने से एक्यूट रेस्पिरेट्री डिस्ट्रेस सिड्रोम (एआरडीएस) में चले गए। उन्हें गंभीर स्थिति में इमरजेंसी लाया गया, आक्सीजन लगाने के बाद भी उन्हें बचाया नहीं जा सका।सरकारी अस्पताल जहां मरीजों से पटे पड़े हैं। वहीं, निजी अस्पतालों से लेकर डाक्टरों के क्लीनिक में बड़ी संख्या में मरीजों का इलाज चल रहा है।

वायरल बुखार, उल्टी-दस्त, सांस फूलने एवं डेंगू के लक्षण के मरीज लगातार आ रहे हैं। बुधवार को वायरल बुखार के साथ सांस उखड़ने से तीन मरीजों ने दम तोड़ दिया।

Share this story