आज CM योगी आदित्यनाथ करेंगे उज्ज्वला 2.0 का औपचारिक शुभारंभ
आज CM योगी आदित्यनाथ करेंगे उज्ज्वला 2.0 का औपचारिक शुभारंभ

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपनी कर्मभूमि गोरखपुर के एक दिन के प्रवास के बाद मंगलवार रात लखनऊ लौट आए हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ बुधवार को लखनऊ में कई कार्यक्रमों के साथ ही उज्जवला योजना की लाभार्थियों को नि:शुल्क एलपीजी सिलिंडर का कनेक्शन भी बाटेंगे। उज्ज्वला 2.0 योजना में उन प्रवासी मजदूरों के लिए विशेष प्रावधान किया गया है जो पहले पते के प्रमाण के अभाव में इस लाभ से वंचित रह गए थे।

सीएम योगी आदित्यनाथ बुधवार को लखनऊ में अपने सरकारी आवास, पांच कालीदास मार्ग से प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के द्वितीय चरण के अन्तर्गत लाभार्थियों को नि:शुल्क एलपीजी कनेक्शन वितरित करेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस अवसर पर प्रदेश के विभिन्न जनपदों के लाभार्थियों से संवाद भी करेंगे। लखनऊ में यह कार्यक्रम वर्चुअल माध्यम से सम्पन्न होगा। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के प्रथम चरण के तहत देश के आठ करोड़ से अधिक परिवारों को नि:शुल्क रसोई गैस प्रदान की जा चुकी है। उत्तर प्रदेश में योजना से 1.47 करोड़ परिवार लाभान्वित हुए हैं। यह संख्या पूरे देश में सर्वाधिक है। उज्ज्वला योजना 2.0 के तहत लाभार्थियों को पहली रिफिल मुफ्त में उपलब्ध कराने के साथ ही चूल्हा भी फ्री दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को राज्य में उज्ज्वला 2.0 का औपचारिक शुभारंभ करेंगे। इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ उज्ज्वला योजना की लाभार्थी महिलाओं से बातचीत भी करेंगे। उज्ज्वला 2.0 योजना में उन प्रवासी मजदूरों के लिए विशेष प्रावधान किया गया है जो पहले पते के प्रमाण के अभाव में इस लाभ से वंचित रह गए थे। डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा रायबरेली में उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को कनेक्शन देंगे। कलेक्ट्रेट के बचत भवन में जिला पंचायत अध्यक्ष और पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीती 10 अगस्त को देश में उज्जवला 2.0 की शुरुआत की थी। इसी को आगे बढाते हुए उज्जवला 2.0 के तहत 20 लाख नई लाभार्थियों को एलपीजी कनेक्शन मिलेगा। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना समाज के अंतिम पायदान पर खड़ी महिलाओं के जीवन में व्यापक परिवर्तन कर उन्हेंं धुएं से होने वाली बीमारियों से मुक्ति दिलाने का माध्यम बनी है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की शुरुआत 2016 में हुई थी और उस समय पांच करोड़ बीपीएल परिवारों की महिला सदस्यों को एलपीजी कनेक्शन देने का लक्ष्य रखा गया था। इसके बाद, अप्रैल 2018 में इस योजना का विस्तार कर इसमें सात और श्रेणियों (अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति, पीएमएवाई, एएवाई, अत्यंत पिछड़ा वर्ग, चाय बागान, वनवासी, द्वीप समूह) की महिला लाभाॢथयों को शामिल किया गया, साथ ही, इसके लक्ष्य को संशोधित कर 8 करोड़ एलपीजी कनेक्शन कर दिया गया। 

Share this story