बीमार मां को बचाने के लिए मुंह से सांस देती रही बेटी, नहीं बचा पाई जान

बीमार मां को बचाने के लिए मुंह से सांस देती रही बेटी, नहीं बचा पाई जान

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते कहर के बीच में सरकारी व्यवस्था की भी लगातार पोल खुल रही है। आगरा में एक महिला के ऑटो में ही अपने पति के प्राण बचाने के लिए उनको मुंह से ऑक्सीजन देने के प्रयास में लगी थी। इसके बाद भी वह उनकी जान नहीं बचा सकी, अब एक ऐसा ही मामला बहराइच से सामने आया है।

तेजी से फैलते कोरोना संक्रमण की वजह से इन दिनों पूरा देश ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहा है। ऑक्सीजन खत्म होने अथवा न मिलने की वजह से मरने वालों की खबरें लगातार सामने आ रही हैं। बहराइच के एक अस्पताल में गंभीर रूप से कोरोना संक्रमित महिला को जब ऑक्सीजन नहीं मिली तो लाचार बेटी ने उसे मुंह से फूंककर ऑक्सीजन देने का प्रयास किया। यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

योगी आदित्यनाथ सरकार के प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन के साथ हॉस्पिटल में बेड और दवा मिलने की हकीकत इंटरनेट मीडिया पर बहराइच के एक वायरल वीडियो पर देखी जा सकती है। यहां पर एक अस्पताल में भर्ती एक महिला को ऑक्सीजन न मिलने पर उसकी बेटी मां को मुंह से सांस देने पर विवश हो गई।

जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती एक महिला को सांस ले पाना कठिन हो रहा था। अस्पताल प्रशासन ने भी ऑक्सीजन उपलब्ध कराने में अपने हाथ खड़े कर दिए थे। महिला की दो बेटियों ने ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए मेडिकल स्टॉफ की मिन्नतें की, लेकिन अस्पताल प्रशासन ने अनुपलब्धता की बात कहकर पल्ला झाड़ लिया। यह देख महिला के साथ आईं उसकी दो बेटियां जान बचाने के लिए मुंह से ऑक्सीजन देने लगीं, लेकिन कुछ देर बाद महिला की सांसें थम गईं। मामले का वीडियो भी सामने आया है। आरोप है कि इस मामले को छिपाने के लिए अस्पताल प्रशासन ने तत्काल तीमारदारों और महिला के शव को वहां से हटवा दिया।

अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. डीके सिंह ने बताया कि महिला जब अस्पताल आई थी तो तत्काल उसकी मौत हो गई थी। ऑक्सीजन की व्यवस्था थी। बच्चियों को लगा कि वह अपने मुंह से हवा देकर कुछ कर सकती हैं, इसलिए ऐसा कर रही थीं। बच्चियां भावनाओं में थी, क्योंकि महिला उनकी मां थी। परिजन महिला को तुरंत लेकर चले गए थे। इसलिए उनका नाम और पता कुछ नहीं नोट किया जा सका।

बहराइच में मेडिकल ऑक्सीजन की कमी कोई अब नई बात नहीं है लेकिन जिला अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए मरीज के तीमारदार खुद आगे आ रहे हैं। यह लोग सिलेंडर तो खरीदने में नाकाम हैं, लेकिन अपनी सांस से ही स्वजन को जीवन देने के प्रयास में हैं। इस वायरल वीडियो में मेडिकल कॉलेज की इमरजेंसी का भी नजारा दिखा। जिसमें बीमार मां को एक बेटी अपने मुंह से ऑक्सीजन दे रही है।

मां को सांस लेने में दिक्कत होने पर दो बेटियां मेडिकल कॉलेज के इमरजेंसी में पहुंची, लेकिन यहां तो हालात बेहद ही दयनीय थे। मां काफी देर तक जब स्ट्रेचर पर हीं रहीं और ऑक्सीजन न मिलने की संभावना के बीच में बेटियों ने ही मोर्चा संभाल लिया। ऑक्सीजन की कमी से तड़पती मां के मुंह में अपना मुंह डालकर बेटियों ने ऑक्सीजन देने का प्रयास किया, लेकिन इनका संघर्ष अधिक देर तक नहीं चल सका।

Share this story