सावन से ठीक पहले प्रधानमंत्री मोदी बनारस को दे सकते हैं बड़ी सौगात

lk

वाराणसी: योगी आदित्यनाथ के दौरे के बाद जिला प्रशासन ने दिसंबर 2020 से जून 2021 तक पूरी हुई परियोजनाओं की विस्तृत रिपोर्ट शासन को भेज दी है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री के संभावित दौरे की रुपरेखा भी तैयार की जा रही है। शासन के माध्यम से ही प्रधानमंत्री कार्यालय से संपर्क कर दौरे को अंतिम रुप दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 से 18 जुलाई के बीच एक दिवसीय वाराणसी दौरे पर आ सकते हैं। पीएम मोदी के संभावित दौरे को लेकर प्रशासन तैयारी में जुट गया है। पीएम मोदी नगर निगम के ठीक बगल स्थित रुद्राक्ष कंवेंशन सेंटर जा सकते हैं और बीएचयू में बनी परियोजनाओं का निरीक्षण कर सकते हैं। इसके अलावा खुले मैदान में एक जनसभा को संबोधित करने की योजना भी बनाई जा रही है।

जून महीने तक वाराणसी में साढ़े सात सौ करोड़ की 75 परियोजनाएं लोकार्पण के लिए तैयार हो चुकी हैं। इसमें परियोजनाओं के भौतिक सत्यापन के लिए मजिस्ट्रेट की नियुक्ति की गई और दो दिन में रिपोर्ट मांगी गई है। यहां बता दें कि पीएम मोदी आठ महीने बाद अपने संसदीय क्षेत्र का दौरा करेंगे, ऐसे में उनके भव्य स्वागत की भी तैयारी कराई जा रही है। इससे पहले वे 30 नवंबर को देव दीपावली पर वाराणसी आए थे और हड़िया-राजातालाब सिक्सलेन परियोजना को राष्ट्र को समर्पित किया था।

मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद शहर में एक सप्ताह का सफाई अभियान शुरू किया जाएगा। इसमें जिला स्तरीय अधिकारियों को वार्ड की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी और उनकी मौजूदगी में सुबह सात से नौ बजे तक सफाई अभियान चलाया जाएगा। दरअसल, मुख्यमंत्री ने शहर की सफाई व्यवस्था पर नाराजगी जताई थी और पीएम के दौरे से पहले स्वच्छता अभियान का निर्देश दिया था।

पूरी हुई 75 परियोजनाओं में ज्यादातर जनता को सीधा सुविधा प्रदान करने वाली हैं। इसमें स्वास्थ्य, पार्किंग, फ्लाईओवर सहित अन्य परियोजनाओं को कार्यदायी संस्थाओं से संचालित करने वाले विभागों को हैंडओवर किया जाना है। जिलाधिकारी ने भौतिक सत्यापन के तुरंत बाद परियोजनाओं को हैंडओवर करने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही पीपीपी मॉडल पर चलने वाली परियोजनाओं को शुरू करने के लिए टेंडर आदि की प्रक्रिया शुरू कराई जाएगी।
इन परियोजनाओं से आएगा बदलाव
– सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए परिवहन विभाग के पांच करोड़ की लागत से करौंदी में तैयार ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर के ट्रैक पर वाहन चालकों की परीक्षा शुरू करेगा।
– वाराणसी को घाघरा ब्रिज, सुल्तानपुर और गोरखपुर को जोड़ने वाले अलग-अलग नेशनल हाईवे बिहार और मध्यप्रदेश तक की राह आसान करेंगे
– बीएचयू में 100 बेड और जिला अस्पताल में 50 बेड के एमसीएच विंग से महिलाओं के स्वास्थ्य सुविधा में सुधार पर बड़ा कदम
– दशाश्वमेध से गोदौलिया के बीच गौरव पथ पर्यटन को देगा नई ऊंचाई, क्रूज संचालन से भी दुनियाभर के पर्यटक होंगे आकर्षित

Share this story