प्रेमिका के भाई ने प्रेमी का किया वध, शव बलिया के एक प्राथमिक विद्यालय से बरामद
शव

चकिया गांव निवासी हीरा राजभर की चार बेटियां ही थीं। उम्र ढलने के कारण देखभाल के लिए हीरा राजभर ने अपनी एक बेटी की पुत्री को ननिहाल में बुला लिया। जहां अनिता रहकर अपने नाना की देखभाल करती थी। उसने अपना एक खेत भी अनिता की मां के नाम कर दिया था। जिसके कारण अनिता अपने भाई के साथ रहकर खेती भी देखा करती थी। इस बीच गांव के राजा राजभर से उसके संबंध हो गए।
जब भाई को इस संबंध के बारे में पता चला तो उसके होश उड़ गए हो और उसने अपने बहन के प्रेमी को मारने की पूरी योजना बना डाली उसने अपने साथियों के साथ मिलकर सारा स्वांग रचा।
उभांव थाना के चकिया गांव में सोमवार को आशनाई मामले में राजा राजभर (24) की गला दबाकर हत्या कर दी गई। जिसका शव चकिया प्राथमिक स्कूल परिसर स्थित हैंडपंप के पास दीवार से सटाकर रख दिया गया था।
रसड़ा सीओ शिवनारायण वैस ने मौका मुआयना कर मामले की जांच तेज कर दी। पुलिस ने मामले में मृतक की कथित प्रेमिका अनिता कुमारी को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है। हत्याकांड में प्रेमिका के भाई की मुख्य भूमिका बताई जा रही है, जो घटना के बाद से ही फरार है। इसकी तलाश में पुलिस जुट गयी है। इधर घटना के बाद स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। मृतक अपने चार भाइयों में दूसरे नंबर पर अविवाहित था। स्वजनाें की मानें तो राजा के घर के पास ही अपने ननिहाल में रहने वाली अनिता राजभर से प्रेम प्रसंग चल रहा था। अनिता अपने भाई राजू राजभर के साथ चकिया गांव में अपने नाना हीरा राजभर के यहां रहती थीं।
उसका भाई रात में करीब नौ बजे खाना खाकर घर के बाहर गिरे बालू को बोरियों में भर रहा था। जिसके बाद से वह रहस्यमय ढंग से लापता हो गया। बताया जा रहा कि प्रेमिका ने ही राजा को फोन कर बुलाया। जिसके बाद उसके भाई ने अपने साथियों और रिश्तेदार के साथ मिलकर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को पास के स्कूल में दीवार से टेकाकर रखने के बाद फरार हो गया। प्रेमिका अनिसा राजभर गड़वार थाना के असनवार गांव की रहने वाली है, जो अपने भाई के साथ ननिहाल में रहती थी। हत्यारों की तलाश में पुलिस ने छापामारी तेज कर दिया है।

Share this story