पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर अरेस्ट, खींचते हुए ले गई पुलिस, रेप केस में सांसद की मदद का आरोप
पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर अरेस्ट, खींचते हुए ले गई पुलिस, रेप केस में सांसद की मदद का आरोप

लखनऊ। मऊ के घोसी से बसपा सांसद अतुल राय पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली युवती को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में रिटायर आइपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर को शुक्रवार को लखनऊ में गिरफ्तार कर लिया गया है। उनके खिलाफ आपराधिक षडयंत्र व आत्महत्या के लिए उकसाने समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है। हजरतगंज कोतवाली पुलिस ने उनको गिरफ्तार करने के बाद शाम को प्रभारी सीजेएम सत्यबीर सिंह की कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें नौ सितंबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया दिया गया।

'नहीं...मुझे एफआइआर की कापी दो, ऐसे नहीं जाऊंगा। मैं नहीं जाऊंगा, नहीं...नहीं...' शुक्रवार दोपहर अपने गोमतीनगर स्थित आवास के बाहर पुलिस जीप में लादे जाते समय पूर्व पुलिस महानिरीक्षक अमिताभ ठाकुर यही कहते रहे। पुलिस उन्हें हजरतगंज कोतवाली ले गई और गिरफ्तार कर लिया। उनकी पत्नी नूतन ठाकुर भी इस दौरान हजरतगंज कोतवाली पहुंच गईं। गिरफ्तारी के बाद अमिताभ ठाकुर को मेडिकल के लिए सिविल अस्पताल ले जाया गया। यहां उन्होंने मीडिया से कहा कि मुख्यमंत्री मेरी हत्या करा सकते हैं। मुझे जानबूझकर प्रताड़ित किया जा रहा है। जिस केस से मेरा कोई मतलब नहीं, उसमें मुझे फंसाया जा रहा है।

सर्वोच्च न्यायालय, नई दिल्ली के सामने पीड़िता और उसके सहयोगी व गवाह द्वारा आत्मदाह के प्रयास मामले में गठित संयुक्त जांच समिति ने अपनी अंतरिम जांच आख्या में आत्महत्या के लिए प्रेरित करने व अन्य आरोपों में सांसद अतुल राय और सेवानिवृत्त आइपीएस अमिताभ ठाकुर को प्रथम दृष्टया दोषी पाया है। जांच समिति ने इनके विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कर विवेचना करने की संस्तुति की है। इस संस्तुति को शासन ने स्वीकृत करते हुए लखनऊ कमिश्नरेट को आगे की कार्रवाई के लिए निर्देशित किया गया। इसके बाद अतुल राय और अमिताभ ठाकुर के विरुद्ध हजरतगंज कोतवाली लखनऊ में मुकदमा दर्ज किया गया है।

पीड़िता ने दिल्ली में आत्मदाह से पहले इस मामले में इंटरनेट मीडिया पर जारी बयान में पूर्व आइपीएस को माफिया मुख्तार अंसारी के इशारे पर बचाने का आरोप लगाते हुए मानसिक शोषण के साथ न्याय से वंचित करने का आरोप लगाया था। बसपा सांसद अतुल राय पर आरोप लगाने वाली पीड़िता के मामले में हुई एसआईटी जांच की रिपोर्ट के आधार पर पूर्व आइपीएस की गिरफ्तारी हुई है।

पीड़िता ने मुख्तार अंसारी की शह पर दुष्कर्म के आरोपी अतुल राय को बचाने के लिए पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर के ऊपर आपराधिक षड्यंत्र रचने का आरोप था। जांच में यह सही पाए जाने पर हजरतगंज पुलिस ने शुक्रवार को पूर्व आईपीएस को उनके आवास से गिरफ्तार किया है।

घोसी से बसपा सांसद अतुल राय पर दुष्कर्म का आरोप लगानी वाली लड़की और दुष्कर्म के मामले में गवाह के नई दिल्ली में आग लगाकर आत्मदाह करने के बाद से जबरिया रिटायर आइपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर की मुश्किल बढ़ गई थी। आत्मदाह मामले की जांच करने वाली एसआइटी ने अमिताभ ठाकुर के खिलाफ केस दर्ज किया था। इसके बाद से उनके घर के बाहर लगातार पुलिस तैनात थी। एफआईआर दर्ज होने के बाद आज अमिताभ ठाकुर को गोमतीनगर में उनके घर के बाहर से गिरफ्तार कर लिया गया है। उनको दुष्कर्म पीड़िता को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। अमिताभ ठाकुर के खिलाफ आज एसआईटी जांच की रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई हुई है। इनके खिलाफ मुख्तार अंसारी की शह पर दुष्कर्म के आरोपी अतुल राय को बचाने के लिए पीड़िता ने आपराधिक षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया था। पीड़िता ने बीते दिनों नई दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट के बाहर आत्मदाह कर लिया था।

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनाव लड़ने की घोषणा करने के साथ ही बीते कई महीनों ने इंटरनेट मीडिया पर एक्टिव रिटायर आइपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर ने लम्बे समय से सरकार के खिलाफ इंटरनेट मीडिया पर बेहद मुखर भी हैं। बीते दिनों ठाकुर ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ गोरखपुर या फिर कही से भी विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा की थी। ठाकुर उनकी गिरफ्तारी के बाद मामला काफी गरम हो गया है।

Share this story