कांग्रेस पूरे यूपी में निकालेगी 'प्रतिज्ञा यात्रा', योगी के मंत्रियों ने कही यह बात
कांग्रेस पूरे यूपी में निकालेगी 'प्रतिज्ञा यात्रा', योगी के मंत्रियों ने कही यह बात

कांग्रेस अब यात्राओं के जरिए जनता को जोड़ेगी। ‘कांग्रेस प्रतिज्ञा यात्रा-हम वचन निभाएंगे’ नाम से निकाली जाने वाली यह यात्रा 20 सितंबर से निकाली जाएगी। प्रदेश के 40 से 44 जिलों से गुजरने वाली यह यात्रा 12 हजार किमी की होगी। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की मौजूदगी में रणनीति व सलाहकार कमेटी की बैठक में यह फैसला लिया गया। शुक्रवार को चुनाव समन्वय समिति की बैठक में 40 नामों की पहली सूची पर सहमति बन गई। चुनाव समिति की अगली बैठक 5 अक्टूबर को होगी। 

लगातार 12 घंटे तक बैठकें कीं

शुक्रवार को सुबह 11 बजे प्रदेश मुख्यालय पहुंची प्रियंका ने रात लगभग 11 बजे ही मुख्यालय छोड़ा। लगभग 12 घंटे तक ताबड़तोड़ बैठकें कर उन्होंने अपने विरोधियों को साफ संदेश दिया कि यूपी में कांग्रेस आक्रामक तरीके से चुनाव लड़ेगी। शुक्रवार को उन्होंने रणनीति कमेटी, चुनाव समन्वय कमेटी, सलाहकार कमेटी समेत जोनवार समीक्षा की।

चार अलग-अलग जगहों से निकलेगी यात्रा

प्रतिज्ञा यात्रा चार अलग-अलग जगहों से निकाली जाएगी और बड़े शहरों, कस्बों और गांवो से होकर गुजरेगी। 20 सितंबर से पांच अक्टूबर के बीच यात्राएं निकाली जाएंगी। यात्रा के दौरान जनता को भाजपा के घोषणा पत्र के अपूर्ण वादों, महंगाई, भ्रष्टाचार, अपराध, महिला हिंसा, बेरोजगारी आदि पर सरकार को घेरा जाएगा। 

वहीं कांग्रेस की नीतियों से भी जनता को परिचित कराया जाएगा और एक बेहतर विकल्प के रूप में पेश किया जाएगा। प्रियंका ने प्रदेश की सभी 58 हजार ग्राम सभाओं में इस माह के अंत तक कांग्रेस के ग्राम सभा अध्यक्ष और उनकी कमेटियों के गठन के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि 20 सितंबर तक का लक्ष्य दिया गया था, लेकिन अभी तक लगभग 18 हजार ग्राम पंचायतों में ही कमेटियां बनीं हैं।

गांधी ने प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री गोविंद बल्लभ पंत की जयंती के मौके पर उनके चित्र पर मार्ल्यापण किया और वीर अब्दुल हमीद की शहादत दिवस पर श्रद्धांजलि देने के बाद ही बैठकें शुरू कीं। बैठकों में प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, राष्ट्रीय सचिव/प्रभारी धीरज गुर्जर, राष्ट्रीय सचिव बाजीराव खाड़े, सचिन नाइक, रोहित चौधरी,  राजेश तिवारी, तौकीर आलम, प्रमोद तिवारी, पी.एल.पुनिया, बेगम नूर बानो, मोहसिना किदवई, जफर अली नकवी, नसीमुद्दीन सिद्दीकी, इमरान मसूद, राजाराम पाल, राजेश मिश्र समेत कई बड़े नेता मौजूद रहे। 

चुनाव समिति की बैठक में प्रत्याशियों की सूची जल्दी जारी करने की मांग

चुनाव समन्वय समिति की बैठक में पहली सूची के लगभग 40 नामों पर सहमति बन गई। प्रदेश के नेताओं ने उनसे अनुरोध किया कि पहले चरण के जो 40-50 प्रत्याशी तय हैं उनके नामों की जल्दी घोषणा कर दी जाए, ताकि कांग्रेस मजबूती से चुनाव लड़ पाएगी। बाकी प्रत्याशियों पर भी जल्द निर्णय लेने का अनुरोध किया गया।

वहीं बैठक में सुझाव आया कि ऑनलाइन पोर्टल बनाया जाए और आवेदन शुल्क समेत मांगे जाए ताकि गंभीर प्रत्याशी ही सामने आएं। वहीं नेताओं ने कहा कि बाहरी नेताओं को टिकट देने से परहेज किया जाए क्योंकि वे हारने के बाद पार्टी छोड़ जाते हैं। वहीं चार महीने पहले ही प्रत्याशियों की सूची जारी करने पर भी सहमति बनी।

Share this story