बैंटिलेटर न मिलने से कोविड के 5 मरीजों की मौत

बैंटिलेटर न मिलने से कोविड के 5 मरीजों की मौत

राजसत्ता पोस्ट

बैंटिलेटर न मिलने से कोविड के 5 मरीजों की मौत

इटावा जनपद में लगातार कोविड के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। जनपद में 1899 मरीज कोरोना के बीमारी से जूझ रहे हैं। प्रतिदिन लगभग 200 का आंकड़ा मरीजों का बढ़ रहा है। पिछले 24 घंटे में 5 कोरोना से ग्रषित गंभीर मरीजों की मौत हो चुकी है। अभी तक गंभीर मरीजों को सैफ़ई के मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया जाता है। लेकिन वहां पर भी जगह भर जाने की वजह से जिला अस्पताल में मरीजों को एडमिट किया जाने लगा है जिसमें 100 सैया का बना अस्पताल आइसोलेशन बनाया गया है इसमें 35 गंभीर मरीजों को भर्ती किया गया है जिसमें से 24 घंटे में 5 मरीजों की हालत खराब हो गई और उनकी मृत्यु हो गई। डॉक्टर का कहना है कि हमारे यहां वेंटिलेटर ना होने की वजह से मरीज मर रहे हैं क्योंकि ऑक्सीजन का तो इंतजाम हो जाता है लेकिन वेंटिलेटर के माध्यम से प्रेशर से ऑक्सीजन दी जाती है लेकिन वेंटिलेटर तो है लेकिन उनको चलाने वाले ऑपरेट करने वाले नहीं है जिस वजह से मरीज लगातार मर रहे हैं। दूसरा प्रमुख कारण आइसोलेशन वार्ड में स्टाफ का ना होना भी बताया गया है क्योंकि डॉक्टर कादिर खान लगातार का इलाज कर रहे हैं लेकिन उनका कहना है कि हमारे पास बार्ड बॉय और स्टाफ नर्स ना होने की वजह से बहुत दिक्कत हो रही है।
बाईट-डॉक्टर कादिर (कोबिड बार्ड)

Share this story